370 के बाद कश्मीर में होने जा रहा है एक और बड़ा बदलाव, महबूबा को लगेगा करारा झटका

1476

कश्मीर में अनुच्छेद 370 को हटे हुए काफी वक्त बीत चुका है और इस दौरान भारत को काफी ज्यादा प्रेशर भी किया गया लेकिन किसी तरह से सरकार इन सब चीजो से निकल आयी. मगर अब सरकार के सामने सबसे बड़ी चुनौती थी कश्मीर में फिर से एक राजनीतिक माहौल खड़ा करना, वहाँ पर प्रतिनिधि लाना जो कि वहाँ पर संचालन कार्यो को आगे बढाए और कश्मीर में ग्रोथ हो मगर महबूबा और उमर अब बंद है ऊपर से वो कुछ ऐसा करने को तैयार नही है. अब पीडीपी और नेशनल कांफ्रेस नही तो कौन कश्मीर को राजनीतिक तरीके से भारत से जोड़े रखेगा?

पूर्व मंत्री अल्ताफ बुखारी ने किया कश्मीर में नयी पार्टी का ऐलान, बीजेपी के बन रहे है इन दिनों करीबी
अल्ताफ बुखारी कभी पीडीपी के नेता थे और एक जाने माने उद्योगपति भी है. वो मंत्री भी रह चुके है लेकिन महबूबा से झगड़े के चलते उन्हें पार्टी से बाहर कर दिया गया. अब पिछले कुछ दिनों से वो बीजेपी के नेताओं से जाकर के मिल रहे थे और कुछ न कुछ होने की सुगबुगाहट तेज होने लग गयी थी.

आखिर में हुआ यही और अल्ताफ बुखारी ने नयी पार्टी बनाने का ऐलान कर दिया है. रिपोर्ट्स की माने तो वो इसका नाम अपनी कश्मीर पार्टी रख सकते है और बीजेपी के करीब होने के चलते वो प्रो इंडिया पॉलिटिक्स चलाएंगे ताकि केंद्र उन्हें पनपने का मौक़ा दे. अगर फिर से वही पुराने ढर्रे पर चलने का प्रयास कोई भी नेता करता है तो उसे महबूबा की तरह बंद होना पड़ सकता है ये बात अल्ताफ बुखार भी बड़ी अच्छे से समझ ही रहे है.

ये बात महबूबा मुफ़्ती के लिए बड़ा झटका है क्योंकि वो उम्मीद लगाकर के बैठी थी कि समय के साथ में केंद्र पर दबाव पड़ेगा कि वो कश्मीर में राजनीतिक बहाली करे और ऐसे में महबूबा को मनाया जायेगा और बाहर लाया जाएगा, मगर अब अल्ताफ बुखारी के हाथ में कमान देकर के ये सब किया जाता है तो सब धीरे धीरे पुराने नेताओं को भूल जायेंगे और कश्मीर आगे निकल जाएगा.