गृहमंत्री शाह ने कपिल मिश्रा को लेकर लिया बड़ा फैसला

2482

इन दिनों दिल्ली की राजनीति के केंद्र में कुछ एक ही नेता है और हर नेता की अपनी कहानी है. केजरीवाल इन दिनों गायब है और सब मुद्दों को संभालते नजर आ रहे है कपिल मिश्रा जिन्होंने न सिर्फ बीजेपी की तरफ से मोर्चा भी अपने कन्धो पर ले रखा है. शाहीन बाग़ से लेकर जाफराबाद तक उन्होंने सीएए के समर्थन में रैली और मार्च निकाले और कुछ स्टेटमेंट भी दिए जिसके चलते उन्हें जान से हाथ धो देने जैसे मेसेज आने लगे और उनकी जान को वाकई में खतरा नजर आने लगा जिसके बाद उन्हें सुरक्षा देना जरूरी हो गया था.

कपिल मिश्रा को पहले से मिली हुई है वाय प्लस श्रेणी की सुरक्षा, हर समय साथ रहेंगे छः जवान
जिस तरह से उन्हें लगातार धम’कियां आ रही है और वो बेबाक अंदाज में बोलते है उसके बाद में उन्हें सालो फले ही तय हो गया था कि कपिल मिश्रा को वाय प्लस श्रेणी की सुरक्षा दी जाए. इस श्रेणी की सुरक्षा में व्यक्ति के साथ में हर समय कुल छः जवान पुलिस के रहते है जिनका काम हर स्थिति में कपिल मिश्रा को सुरक्षित रखना होगा. इससे पहले दिल्ली पुलिस ने ऐसी कोई जानकारी होने से इनकार कर दिया था लेकिन अब मीडिया रिपोर्ट्स का कहना है कि सुरक्षा वाकई में मिल गयी है. बादमे एक बार फिर 2019 के अंत में रिव्यू किया गया था कि उन्हें ये सुरक्षा मिलती रहे या फिर नही? उस वक्त शाह गृहमंत्री हो चुके थे और उन्हें फिर से सुरक्षा मिली.

इससे पहले भी कई नेताओं को इस तरह की परिस्थितियों में सुरक्षा मिलती रही है. हालांकि कमलेश तिवारी और रणजीत बच्चन जैसे नेताओं के अपने जान से हाथ धो देने के बाद में गृह मंत्रालय को इस मामले में थोडा और सतर्क और सख्त होने की जरूरत जरुर है क्योंकि इस तरह के मेसेज जिन भी लोगो को आते है उनकी वाकई में जान गयी है और ये खतरा इन दिनों कपिल मिश्रा पर मंडरा रहा है. आपको बता दे कपिल को सुरक्षा दिल्ली पुलिस हेडक्वाटर से मिली है जैसा कि एनबीटी का दावा है और ये अमित शाह के अंडर में ही आता है.

कपिल मिश्रा को फिलहाल के दिनों में दिल्ली बीजेपी में नम्बर दो का नेता माना जाता है और वो सोशल मीडिया पर भी अपनी अच्छी खासी पहुँच रखते है. बड़े बड़े नेरेटिव सेट करने से लेकर कई मुद्दों पर वो बीजेपी को अच्छी खासी पकड़ बनाने में मदद करते रहे है.