उद्धव ठाकरे मुसलमानों को खुश करने के लिये लेने जा रहे है बड़ा फैसला

168

महाराष्ट्र में इन दिनों में राजनीति की हवाए पूरी तरह से बदल चुकी है. कभी जो शिवसेना यहाँ बीजेपी के साथ में रहकर के कही न कही हिन्दू और मराठी हित की बात करती थी अब उसके रास्ते कही न कही दूसरी तरफ जाते हुए नजर आ रहे है और इससे सत्ता का गणित भी काफी हद तक बदला बदला सा नजर आता है. इसी कड़ी में उद्धव ठाकरे की सरकार ने ऐसा फैसला लिया है जिसकी उम्मीद तो शायद उनके अपने समर्थको ने भी उनसे नही की थी, मगर कुर्सी पर बने रहने की चाहत कुछ भी करवा सकती है.

महाराष्ट्र के अल्पसंख्यक विकास मंत्री का दावा, महाराष्ट्र में मुस्लिमो को मिलने जा रहा है 5 प्रतिशत आरक्षण
नवाब मलिक जो कि ठाकरे सरकार में अल्पसंख्यक विकास मंत्री है उन्होंने दावा किया है कि महाराष्ट्र में मुस्लिमो को 5 प्रतिशत आरक्षण मिलने वाला है और इसके लिए जल्द ही महाराष्ट्र सरकार के मंत्रीमंडल में प्रस्ताव लाया जा सकता है जिसके बाद में अध्यादेश के जरिये ये लागू किया जा सकेगा. फिर इसका बिल भी पेश होगा. नवाब मलिक के इस दावे के बाद में पूरे राज्य में खलबली मच गयी है और हर कोई अपने अपने व्यू इस पर रख रहा है.

हालांकि इसी सरकार के मंत्री एकनाथ शिंदे ने बयान जारी करते हुए कहा है कि इस पर अभी कोई फैसला नही हुआ है. शिंदे के इस बयान के बाद में काफी असमंजस की स्थिति पैदा हो गयी है. हालांकि बीजेपी इस ऐलान के बाद से बड़ी नाराज है और फडनवीस ने इस पर बयान जारी करते हुए कहा है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार 50 प्रतिशत से अधिक आरक्षण नही दिया जा सकता है. इससे बाकी जो भी आरक्षित वर्ग है उन पर भी फर्क पड़ सकता है.

अब तक ठाकरे ने खुद ने या फिर उनके करीबी संजय राउत ने इस पर कुछ भी नही कहा है मगर उनके ही मंत्रीमंडल के लोग काफी कुछ कह रहे है और ऐसे में कुछ तो होने ही जा रहा है ऐसा लगता है.