विरोध और नारेबाजी के कारण शहीद रतनलाल के घर नही जा सके केजरीवाल, अब वापिस आकर किया ये ऐलान

819

देहस की राजधानी नयी दिल्ली में इन दिनों हालत कोई सामान्य नही है और ये चीज हर कोई जानता है. जिस तरह से पिछले दो से तीन दिनों में हालात बिलकुल भी सामान्य नजर नही आ रहे है और हर तरफ कही न कही चीजे काफी हद तक गलत मोड़ पर जा रही है. कई लोग घायल हुए है और कईयो ने तो अपनी जान तक गवा दी जो अपने आप में चिंताजनक माना जा सकता है. ऐसे में सभी नेता भी अपनी अपनी तरफ से ड्रामा से लेकर जो भी ऐलान किये जा सकते है वो कर रहे है.

केजरीवाल को रतनलाल के घर वालो से मिलने नही दिया, वापिस लौट किया 1 करोड़ मुआवजा और सरकारी नौकरी का ऐलान
जब राजधानी में इतना कुछ हो रहा था तो दिल्ली पुलिस के जवाब रतनलाल ने अपनी जान गँवा दी जिसके बाद मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल  उसके घर उसके परिवार वालो से मिलने गये तो वहाँ लोग बीच में खड़े हो गये और केजरीवाल गो बैक के नारे लगे तो मजबूरन अरविन्द केजरीवाल को वापिस लौटना पडा. केजरीवाल अपना पूरा काफिला और सुरक्षा में लगे हुए जवानो को लेकर के उनसे मिलने के लिए गये थे और उन्हें बाहर एरिया में ही रोक लिया गया.

अब आने के बाद डेमेज कण्ट्रोल के लिए या फिर मन से लेकिन दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने रतनलाल के परिवार वालो के लिए 1 लाख रूपये की आर्थिक मदद देने का ऐलान किया है और इसके अलावा रतनलाल के ही परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी भी दी जायेगी ताकि उनके जीवन में उतनी अधिक समस्या न आये जितनी एक व्यक्ति के चले जाने के बाद में आती है.

अब तक सिर्फ रतनलाल थे लेकिन अभी हाल ही में एक और आईबी कर्मचारी के भी स्वर्ग सिधार जाने की खबर आयी है जो बेहद ही दुखद है और जो इसके पीछे ज़िम्मेदार है उनके सामने होते हुए भी पुलिस उन्हें ढंग से काबू नही कर पा रही है क्योंकि यहाँ भी कश्मीर वाला तरीका आजमाया जा रहा है जहाँ भीड़ की आड़ में पत्थरबाजी करके लोग छुप जाते है.