डोनाल्ड ट्रम्प ने जाते जाते दिया धारा 370 हटाने और CAA प्रदर्शनों पर बड़ा बयान

2108

डोनाल्ड ट्रम्प इन दिनों भारत में है. ये किसी भी अमेरिकी राष्ट्रपति का अब तक का सबसे अधिक महत्वपूर्ण दौरा माना जा रहा है और इस बात मे किसी को कोई शक भी नही है. ट्रम्प और मोदी के बीच की केमिस्ट्री भी काफी जबरदस्त मामला है जिससे दोनों देशो के रिश्ते मजबूत हुए है मगर सभी को टेंशन ये थी कि ट्रम्प पत्रकारों से बात करते हुए उन संवेदनशील मुद्दों पर क्या बोलेंगे जिन्हें लेकर के भारत सबसे अधिक चिंतित है और ट्रम्प ने शायद एक बार फिर से अपनी यारी को निभाकर के दिखाया है.

CAA भारत का आंतरिक मसला, भारत ने 370 को सोच समझकर ही हटाया
अपना दौरा पूरा करने के बाद में डोनाल्ड ट्रम्प ने एक प्रेस वार्ता की जिसमे वो कई सवालों का जवाब देते हुए नजर आये उसी दौरान उनसे नागरिकता संशोधन क़ानून और उसे लेकर के हो रहे प्रदर्शनों पर सवाल किया गया तो उन्होंने जवाब दिया कि CAA भारत का आंतरिक मसला है, इस पर भारत से कोई भी चर्चा नही हुई है. ट्रम्प ने माना कि भारत में किसी भी धर्म के व्यक्ति को खतरा नही है. पीएम मोदी इस्लाम और ईसाइयों के लिए भी अच्छा काम कर रहे है.

ट्रम्प ने तो ये तक कह दिया कि भारत में बाकी देशो की तुलना में और अधिक धार्मिक स्वतंत्रता है. ये स्टेटमेंट कही न कही उन लोगो के लिए करारा जवाब है जिनका कहना था कि CAA लाकर के मोदी देश में धार्मिक असंतुलन पैदा करना चाहते है. वही जब उनसे कश्मीर से धारा 370 हटाने पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि भारत ने सोच समझकर के ही हटाया है. वो इस पर ज्यादा बात नही करना चाहते थे क्योंकि ये भारत का अपना निजी और आंतरिक मसला है.

इस तरह से ट्रम्प ने साफ़ तौर पर भारत सरकार को इस मामले में कही न कही सही ठहराया है. वैसे वो मोदी सरकार को नाराज करना पसंद भी नही करेंगे क्योंकि अभी दोनों देशो के बीच में बिलियंस डॉलर में व्यापार हो रहा है और एक आध बयान भी काफी भारी नुकसान करवा सकता है.