नरेंद्र मोदी और ट्रम्प ने की संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस, मोदी के 4 और ट्रम्प के 5 बड़े ऐलान

724

यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प कल सवेरे भारत आये थे और उन्होंने अहमदाबाद से लेकर आगरा तक का विचरण किया. फिर रात को वो दिल्ली की लग्जरी फाइव स्टार होटल आईटीसी मौर्या में रुके और फिर राजघाट पर गांधी जी को पुष्पांजलि अर्पित करने के बाद में उनकी नरेंद्र मोदी जी के साथ में मीटिंग हुई और इस मीटिंग से लोगो को चाहे वो अमेरिकी हो या फिर भारतीय हो दोनों ही तरफ के लोगो को बड़ी उम्मीद थी और लगता है कि कुछ हद तक ये बाते पूरी हुई भी है.

चलिए फिर हम जानते है कि दोनों ही देशो की तरफ से क्या कुछ कहा गया? पहले इस संकट प्रेस वार्ता में नरेंद्र मोदी ने बोलना शुरू किया और उन्होंने कुछ महत्पूर्ण बिंदु देश के सामने रखे जो इस प्रकार है. दुख की बात ये है कि इन सभी में ट्रेड डील को लेकर के कोई भी बड़ा ऐलान देखने को नही मिला जिसकी उम्मीद भारत सबसे ज्यादा कर रहा था.

  1. भारत और अमेरिका के बीच के सम्बन्ध नए मुकाम पर पहुंचे है.  पिछले 8 महीने में मेरी और डोनाल्ड ट्रम्प की ये 5वीं मुलाक़ात है. हमारे बीच के रक्षा सम्बन्ध काफी महत्वपूर्ण है. भारतीय सेना का सबसे अधिक सैन्य अभ्यास भी अमेरिकी आर्मी के साथ करती है.
  2. हम दोनों के बीच ड्र’ग और नारको टेरे’रिज्म के खिलाफ लड़ाई लड़ने पर भी सहमती बनी है
  3. हम लोग कॉम्प्रिहेंसिव ग्लोबल स्ट्रेटेजिक पार्टनरशिप के जरिये और अधिक मजबूत सम्बन्ध करेंगे.
  4. भारत और अमेरिका के लोगो के बीच में पीपल टू पीपल का कांटेक्ट है.

इसके बाद में डोनाल्ड ट्रम्प ने बोलना शुरू किया और उन्होंने काफी कम शब्दों में अपनी बाते खत्म कर दी लेकिन जो कुछ भी ट्रम्प के द्वारा कहा गया है वो अपने आप में बहुत ही ज्यादा मायने रखता है इस बात को तो मानना ही होगा.

  1. भारत में मेरा कभी भी न भूलने वाला स्वागत हुआ. मैं गांधी जी के आश्रम गया और राजघाट पर जाकर के उन्हें श्रद्धाँजली भी अर्पित की. ताजमहल जैसी विरासत को देखने का भी मौक़ा मिला
  2. दोनों देशो के बीच में उच्च स्तरीय इन्फ्रास्ट्रक्चर विकास करने को लेकर के सहमति बनी है.
  3. रक्षा क्षेत्र में डील के बाद में दोनों ही एशो के बीच में गहरी दोस्ती हुई है. हमारे बीच 3 बिलियन डॉलर का व्यापार होगा जिसमे हम भारत को रोमियो जैसे विश्व विख्यात हेलीकॉप्टर उपलब्ध करवाने जा रहे है.
  4. भारत की ऊर्जा सम्बंधित जरुरतो को पूरा करने के लिए हम प्रतिबद्ध है.
  5. पाकिस्तान के साथ में हम लोग बात कर रहे है ताकि आतं’कवाद का सफाया किया जा सके.