एक तरफ ट्रम्प दिल्ली आये हुए है और दूसरी तरफ उसी शहर में इतनी बड़ी साजिश चल रही है

169

भारत के लिए अभी के चल रहे 48 घंटे अपने आप में बड़े ही ख़ास है क्योंकि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प भारत आये हुए है और यहाँ पर उन्होंने कई सारी चीजे की है. पहले तो ट्रम्प साबरमती आश्रम, साथ ही साथ उन्होंने अहमदाबद में रोड शो भी किया और फिर मोटेरा स्टेडियम में 1 लाख से भी अधिक लोगो को संबोधित करने के बाद आगरा में ताज का दीदार किया और फ़िलहाल वो दिल्ली के आईटीसी मौर्या होटल में है. एक तरफ वो राजधानी में है और दूसरी तरफ उसी राजधानी में लॉ एंड आर्डर की हालत पतली हो रखी है.

ट्रम्प की यात्रा के दौरान राजधानी में तोड़ फोड़, कई जगहों पर धारा 144 लागू
ट्रम्प कल शाम तक दिल्ली में ही रूक रहे है और उनके यहाँ आने के पहले ही सीएए का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियो ने जगह जगह पर गाड़ियां तोडनी शुरू कर दी, उन्हें जलाया भी गया, लोगो के घरो में घुस गये और तो और एक पुलिसकर्मी और एक नागरिक की जान तक चली गयी है. इसके चलते कई जगहों पर धारा 144 लागू की गयी है और बड़ी संख्या में मेट्रो स्टेशन भी बंद कर दिए गये है.

ट्रम्प की यात्रा के दौरान राजधानी के हालात खराब कर भारत की कमजोर छवि दिखाने की कोशिश, एक देश जो राजधानी में लॉ एंड आर्डर मेंटेन नही कर सकता देश के गृह राज्य मंत्री ने भी माना है कि इसके जरिये देश को बदनाम करने की साजिश की जा रही है. ट्रम्प की यात्रा के दौरान अगर राजधानी में ऐसा सहमा हुआ माहौल रहेगा तो न सिर्फ अमेरिका भारत के लॉ एंड आर्डर को कमजोर मानेगा बल्कि विदेशी मीडिया भी इस खबर को छापकर के इन चीजो को दिखायेगा जिससे भारत की बदनामी होगी.

इस साजिश को अन्दर तक समझने की जरूरत है. इतने दिनों तक शाहीन बाग़ में जो चीज शान्तिपूर्ण तरीके से चल रही थी वो अचानक से तोड़ फोड़ वाली भीड़ में कैसे बदल गयी वो भी ट्रम्प की विजिट के समय. ये सब कही न कही से प्लान हो रहा है और गृह मंत्रालय इसे समझने में कही न कही नाकाम नजर आ रहा है.