मोदी सरकार ने केजरीवाल का इतना बड़ा सपना तोड़ दिया

781

अभी हाल ही अरविन्द केजरीवाल प्रदेश के मुख्यमंत्री बने है और भारी मतों के साथ में चुनाव जीतकर के बने है. उनकी जीत ये लगातार तीसरी बात है और कही न कही इसके जरिये उन्होंने खुदको बहुत ही उच्च स्तर का नेता बना दिया है. बीजेपी को उन्होंने झटका दिया है और वो भाजपा के बड़े विरोधी पार्टी वाले लोगो के तौर पर उभरे है और ऐसे में बीजेपी केजरीवाल को तंग करने के लिए कुछ करे न ऐसा तो हो नही सकता है. हालांकि अभी जो हुआ है वो वाकई में बीजेपी के कहने पर हुआ है या फिर अपने आप ही, इस पर कोई स्पष्टता नही है.

मेलानिया ट्रम्प के साथ स्कूल विजिट पर रहने वाले थे केजरीवाल और सिसोदिया, अब अचानक बाहर
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प भारत के दौरे पर आ रहे है और इस दौरान उनकी पत्नी मेलानिया ट्रम्प भी इस दौरान यही पर ही होगी और मेलानिया का प्लान है कि वो दिल्ली की स्कूलों का भी दौरा करेगी. पहले तो केजरीवाल और सिसोदिया भी इसका हिस्सा बनने वाले थे लेकिन अब ऐसा नही होगा. आम आदमी पार्टी के सूत्र कहते है कि ये बीजेपी सरकार के प्रेशर में हुआ है जिसके चलते इस कार्यक्रम में बदलाव किया गया है.

हालांकि बीजेपी ने प्रेस वार्ता करके कहा है कि इस बात पर तू तू मैं मैं नही चाहते है. भाजपा ने इस तरह के किसी भी आरोपों से इनकार किया है. अब ये चाहे सरकार ने किया हो या फिर अमेरिकन एजेंसी ने किया हो लेकिन केजरीवाल का बड़ा सपना तो टूट ही गया है. आम आदमी पार्टी की बड़ी इच्छा थी कि केजरीवाल खुद मेलानिया ट्रम्प को दिल्ली की स्कूले दिखाए और इससे दुनिया भर में इन स्कूलों का डंका बज जाएगा.

मगर ऐसा हो नही पाया है ऐसे में चीज तो केजरीवाल के विरोध में ही जा रही है. बाकी मेलानिया ट्रम्प का दिल्ली स्कूलों में विजिट तो फिक्स ही और ये क्या परिणाम लाता है और क्या खबर बनाता है ये तो आने वाला वक्त ही बतायेगा.