भारत आने से पहले ट्रम्प ने दिखाया अपना असली रंग, दिया इतना मतलबी बयान

651

इस 24 फरवरी को भारत में विश्व का सबसे हाई प्रोफाइल दौरा होने जा रहा है. सभी लोग इसे लेकर के काफी ज्यादा उत्साहित है क्योंकि दुनिया के दो सबसे ताकतवर देशो के सबसे शक्तिशाली नेता मिलने जा रहे है और इससे भारत को काफी उम्मीदे थी कि अगर हम अमेरिका को इतना कुछ दे रहे है, ट्रम्प का इतना फायदा करवा रहे है तो हमें भी व्यापारिक फायदा होगा लेकिन लगता है कि ट्रम्प ऐसा कुछ करना नही चाह रहे है. उनके अभी के बयान से तो कुछ ऐसा ही होता हुए नजर आ रहा है.

मोदी के जरिये सिर्फ भारतीय मूल के अमेरिकी वोटो पर ट्रम्प की नजर, भारत से नही करेंगे कोई ट्रेड डील
अमेरिका में इस वर्ष के अंत में राष्ट्रपति चुनाव है और इसमें भारतीय वोटर काफी अहम् भूमिका निभा सकते है क्योंकि इनकी संख्या वहाँ पर 30 लाख के करीब है. ट्रम्प मोदी के साथ अहमदाबाद के साथ रोड शो करके उन लोगो को लुभाना चाहते है और चाह रहे है कि ये सभी लोग मोदी की अपील पर उन्हें वोट कर दे. इसके अलावा भारत अमेरिका से डिफेन्स की परचेज भी करने वाला है.

मगर बदले में भारत को और मोदी को क्या मिलेगा? भारत उम्मीद लगाकर के बैठा था कि अमेरिका और इंडिया के बीच कोई ट्रेड डील होगी जिससे भारतीय व्यापारियों को फायदा होगा. पिछले वर्ष ट्रम्प ने भारत का स्पेशल स्टेटस खत्म कर दिया था जिससे अमेरिका और भारत के व्यापार में 5 बिलियन से अधिक का नुकसान हर वर्ष देखने को मिल सकता है. भारत चाह रहा था कि वो स्टेटस वापिस मिल जाए या फिर कोई और डील हो जाए जिससे इसकी भरपाई तो हो लेकिन ट्रम्प ने आने से पहले ही कह दिया कि मोदी मुझे पसंद है पर भारत के साथ फ़िलहाल कोई ट्रेड डील नही होगी.

अब ट्रम्प ने जिस तरह से पहले से ही इंकार कर दिया है उससे भारत की जो आर्थिक उम्मीदे थी उन्हें झटका लगा है और अब लगता है कि ये ट्रम्प का दौरा सिर्फ अमेरिका को और खुद ट्रम्प को ही चुनावी फायदा पहुंचाएगा. हालांकि अभी भारत का कूटनीतिक प्लान क्या है वो तो वक्त ही ही बतायेगा.