चुनाव जीतने के तुरंत बाद अमित शाह से जाकर मिले केजरीवाल, ये थी वजह

1056

अरविन्द केजरीवाल अभी हाल ही में दिल्ली का विधानसभा चुनाव जीते है और बहुत ही शानदार तरीके से जीते है. इस चुनाव में अच्छी खासी विजय हासिल कर लेने के बाद में अब केजरीवाल से लोग उम्मीद कर रहे थे कि वो अपने दोस्तों से मिलना करना करेंगे जिनमे ममता बनर्जी तो उनकी बड़ी ही ख़ास दोस्तों में से एक है मगर इन सभी से तो केजरीवाल मिले नही मगर जाकर के सीधा देश के गृह मंत्री अमित शाह से मिले है और इसके पीछे भी विशेष कारण बताये जा रहे है.

एमसीडी से बिठाना है तालमेल, एलजी से काम निकलवाना और केंद्र से फंड भी जुटाना है अरविन्द केजरीवाल के सामने सत्ता में आते ही कुछ एक चुनौतियां है जिनसे पार हुए बिना वो सत्ता में आने के लिए किये गये वादे पूरे नही कर सकते है. एमसीडी में बीजेपी सत्ता में है जो दिल्ली की कई चीजो पर कण्ट्रोल करती है और दिल्ली सरकार के लिये उनसे तालमेल बिठाकर रखना बेहद ही जरूरी है अगर वो सही तरीके से ऑपरेट करना चाह रहे है.

दूसरी चीज है एलजी से कई सारे आदेश अप्रूव करवाना. पिछली सरकार में अरविन्द केजरीवाल को दिल्ली सरकार के कई सारे आदेश एलजी से पास करवाने में पसीने आ गये थे और ये वाकई में बहुत ही मुश्किलों से भरा हुआ था. केजरीवाल नही चाहते है कि फिर से ऐसा हो क्योंकि एलजी की कमान तो मोदी और शाह के हाथ में ही होती है. वही एक अंतिम चीज ये भी है कि कई काम ऐसे भी है जिनके लिए बजट केंद्र सरकार से अलोट करवाना पड़ेगा क्योंकि दिल्ली सरकार के पास इतना भी पैसा नही है कि वो सारे काम खुद से ही कर ले.

ऐसे में शाह और मोदी से बनाकर के रखना बहुत ही ज्यादा जरूरी है. इस बात की झलक तो चुनावों में भी नजर आ चुकी है जब केजरीवाल ने कितनी ही मजबूरी होने के बावजूद मोदी को टारगेट नही किया क्योंकि मोदी के खिलाफ होकर के सत्ता हासिल करना और सरकार के काम करना दोनों ही मुश्किल है.