एनसीपी और शिवसेना में शुरू हुआ झगड़ा, शरद पवार ने उद्धव पर दिया ये बयान

744

महाराष्ट्र में इन दिनों गठबंधन वाली सरकार है. अब सत्ता चाहे आपस में कई सारे समझौते करके हासिल की गयी हो लेकिन वैचारिक मतभेद होने के कारण कही न कही ये चीज समय समय पर उजागर तो होती ही रहती है और इसी के चलते अब इन दोनों ही पार्टियों के बीच में जो दूरियां वो समय बीतने के साथ में खुलकर के सामने आ रही है और ये महाराष्ट्र की सरकार पर किसी खतरे से कम नही है और वैसे भी इस राज्य में स्थिर सरकार होने का कोई अच्छा इतिहास भी नही रहा है.

उद्धव ठाकरे ने कहा हम सीएए से कोई समस्या नही, शरद पवार बोले हम तो खिलाफ है
उद्धव ठाकरे इसे जब हाल ही में सीएए को लेकर के सवाल होने लगे तो ठाकरे ने बड़े ही स्पष्ट शब्दों में कहा कि सीएए अलग है, एनपीआर अलग है और एनआरसी अलग है इनका आपस में कोई भी लेना देना नही है. सीएए लागू होने से हमें कोई समस्या नही है और एनपीआर तो सामान्य जनगणना है. हां एनआरसी जरुर गलत है क्योंकि इससे सभी लोग प्रभावित होंगे मगर इस पर अभी कोई चर्चा ही नही है.

बस उद्धव ठाकरे के इतने बोलने की देर थी और शरद पवार बरस पड़े. पवार ने कहा कि महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे का अपना खुदका नजरिया होगा मगर एनसीपी इसके खिलाफ है और हमने इसके खिलाफ में ही मतदान भी किया था. शरद पवार ने उद्धव ठाकरे को खरी खरी सुना दी कि इस मामले में एनसीपी कही से भी गठबंधन के साथ नही है और वो इस राज्य में कुछ ऐसा होता है तो उसके खिलाफ ही खड़ी हो जायेगी.

इन दिनों उद्धव ठाकरे पर काफी ज्यादा प्रेशर है क्योंकि राज ठाकरे फिर से महाराष्ट्र में उभर रहे है जो उद्धव की राजनीति के लिए काफी बड़ा खतरा है और इस वजह से उद्धव हलकी हलकी ही सही लेकिन राष्ट्र्वादी राजनीति कर रहे है मगर इससे उनके ही गठबंधन दलों के छिटकने का खतरा है.