राहुल गांधी के इस एक बयान की वजह से फंस गयी है कांग्रेस, मांगनी पड़ रही माफ़ी

433

राहुल गांधी कांग्रेस पार्टी के सबसे टॉप नेताओं में से एक है और उनकी बात काफी ज्यादा मायने भी रखती है. शायद इसी कारण से राहुल गांधी पर ज्यादा जिम्मेदारी भी है कि वो कही न कही कांग्रेस के लिए सही बयान दे मगर अक्सर उनकी जुबान से कुछ ऐसा निकल ही जाता है जो चाहे जिताने के लिए हो मगर फिर कई बार पार्टी के नेताओं को शर्मसार होना पड़ता है और कई बार माफ़ी तक मांगनी पडती है और लगता है इस बार एक बार फिर से ऐसा ही कुछ हो भी रहा है.

राहुल ने किया था 10 दिन में किसानो की कर्जमाफी का वादा, पूरा न होने पर माफ़ी मांगते फिर रहे है नेता
जब मध्य प्रदेश में चुनाव होने जा रहे थे तब की ही बात है राहुल गांधी चुनाव प्रचार करने के लिए पहुंचे थे और वहां पर मंच से उन्होंने वादा किया था कि जैसे ही राज्य में उनकी सरकार बनेगी तो दस दिन के भीतर वो किसानो का 2 लाख रूपये तक का कर्ज माफ़ कर देंगे. अगर ऐसा नही होता है तो वो मुख्यमंत्री को ही बदल देंगे. अब राहुल तो बोलकर के निकल लिए मगर पीछे झेलना राज्य के नेताओं को पड़ रहा है.

मध्य प्रदेश सरकार में सामान्य प्रशासन मंत्री ने अपनी जनता से माफ़ी मांगी है क्योंकि सरकार बनने के इतने समय के बाद भी वो राहुल गांधी के कर्ज माफ़ी के वायदे को पूरा नही कर पाए है. गोविन्द सिंह ने अपने बयान में कहा कि राहुल गांधी ने कहा था कि दस दिनों के अन्दर सरकार आयी तो किसानो का कर्ज माफ़ी होगी पर ऐसा हो नही पाया है. विपक्ष का कहना है कि हमने आपको धोखा दिया है लेकिन ऐसा नही है. कुछ कारणों के चलते विलम्ब हो रहा है.

राहुल गांधी कई बार इस तरह के बयान दे देते है जिसके चलते पूरी पार्टी को शर्मिंदा होना पड़ता है या फिर उसे लेकर के कांग्रेस का मखौल ही बन जाता है. हालांकि अभी वो बयान बाजी कम करते है तो ऐसी स्थिति में कम विवाद उपजते है.