केजरीवाल ने भेजा पीएम को शपथ ग्रहण में आने का न्यौता, मोदी ने इस वजह से आने से मना कर दिया

1066

दिल्ली में अरविन्द केजरीवाल ने अभी हाल ही में काफी बड़ी जीत हासिल की है और ये जीत अभी हाल ही के दिनों में दूसरी बार है. पिछली बार जहाँ अरविन्द केजरीवाल ने 68 सीट्स हासिल की थी जबकि इस बार आम आदमी पार्टी पूरे 63 सीटो पर काबिज है जिसके बाद में अब 16 फरवरी को केजरीवाल का शपथ ग्रहण समारोह है जिसमे वो दिल्ली के मुख्यमंत्री पद की लगातार तीसरी बार शपथ लेंगे. केजरीवाल की ये इस पद की हैट्रिक है और ये अपने आप में दिल्ली में इतिहास की तरह है और उन्होंने इस उपलक्ष में प्रधानमंत्री मोदी को भी आने के लिये न्यौता दिया मगर ऐसा हो नही सका.

केजरीवाल से मिला न्यौता, मगर वाराणसी दौरे की वजह से समारोह का हिस्सा नही बन पायेंगे प्रधानमंत्री
इस 16 जनवरी को अरविन्द केजरीवाल का शपथ ग्रहण समारोह है और इसी दिन देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वाराणसी में अपने दौरे पर जा रहे है. इस दिन उन्हें कई सारी परियोजनाओ का उदघाटन भी करना है जिसके जरिये वो अपने संसदीय क्षेत्र में विकास की नयी इबारत लिखेंगे और संयोग से इसी दिन अरविन्द केजरीवाल का शपथ ग्रहण समारोह भी है और इसी कारण से वो इस समारोह में शामिल नही हो सकेंगे.

हालांकि इस समारोह में केजरीवाल ने किसी अन्य मुख्यमंत्री को न्यौता नही दिया है फिर भी माना जा रहा है कि कुछ एक अन्य पार्टियों के लोग भी इस कार्यक्रम में शामिल हो सकते है क्योंकि इसी जीत के जरिये बीजेपी को परास्त करने के लिए तरह तरह तरह के रास्ते निकालने के प्रयास किये जायेंगे. उद्धव  ठाकरे और ममता बनर्जी तो पहले ही केजरीवाल के फ्री मॉडल को अपनाकर के बीजेपी को चुनौती देने का रास्ता खोजने में लग गये है जो अपने आप में शाह के लिए चिंता की बात है.

आम आदमी पार्टी के ही एक नेता का कहना है कि सभी सांसदों को भी इस सम्बन्ध में न्यौता दिया गया है मगर अब कितने लोग आते है और कितने लोग इसका हिस्सा बनते है ये अपने आप में देखने वाली ही बात होगी.