बीजेपी की हार के बाद इस्तीफा देंगे मनोज तिवारी? खुद जवाब दिया

284

भारतीय जनता पार्टी को दिल्ली के विधानसभा चुनावों में काफी बुरी हार देखनी पड़ी है और आम आदमी पार्टी अच्छे खासे सीट्स के गैप के साथ में जीत गयी है. कांग्रेस का तो खाता तक नही खुल सका जिसके बाद में दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा ने इस्तीफ़ा दे दिया है. अब कांग्रेस के अध्यक्ष के इस्तीफे के बाद कयास लगने लगे कि बीजेपी भी इस्तीफा दिलवा सकती है. इस पर थोड़ी बहुत चर्चा होते हुए भी देखी गयी. मीडिया रिपोर्ट में दावा हुआ कि मनोज तिवारी ने इस्तीफ़ा दे दिया है लेकिन हाईकमान ने उसे लेने के मना कर दिया, फिर मनोज तिवारी को खुद सामने आकर के जवाब देना पड़ा.

ना मैंने इस्तीफे की पेशकश की और न ही मुझे इस्तीफा देने के लिए कहा गया है
मनोज तिवारी ने इन सभी बातो पर मुंह तोड़ जवाब देते हुए कहा कि मैंने न तो किसी तरह के इस्तीफे की पेशकश की है और न ही मुझे पार्टी की तरफ से इस्तीफा देने के लिये कहा गया है. मनोज तिवारी के इस बयान के बाद में साफ़ हो गया कि वो अभी पार्टी के दिल्ली अध्यक्ष पद को छोड़ने के मूड में नही है बल्कि अभी वो केजरीवाल को और भी अधिक घेरने के प्रयास में है.

हालाँकि आम आदमी पार्टी द्वारा कसे जा रहे तंज और सोशल मीडिया पर हो रही हलचल के बाद में कही न कही मनोज तिवारी पर एक प्रेशर तो बना ही है कि वो क्या करे और क्या न करे? हालांकि अमित शाह उनके अलावा बीजेपी के अन्य सभी सांसदों के साथ मिलकर के विचार विमर्श और हार पर पूरी तरह से मंथन कर चुके है और अन्दर क्या हुआ है? ये बात वाकई में कोई भी नही जानता है.

फ़िलहाल बीजेपी अब अपना ध्यान दिल्ली से हटा चुकी है और अगला ध्यान बिहार पर और बंगाल पर है जहाँ पर अगले इलेक्शन है. जहाँ बंगाल में बीजेपी ममता बनर्जी को सत्ता से उखाड़ने की जंग लड़ेगी वही बिहार में अपनी सत्ता बचाने को जूझना होगा.