ममता ने किया ऐसा चालाकी भरा ऐलान, जिससे बीजेपी को बंगाल चुनाव जीतना मुश्किल हो सकता है

1012

अभी हाल ही में दिल्ली का चुनाव खत्म हुआ है और इसके बाद में भी कोई चुनावी मौसम कोई बंद नही हो रहा है. अगले दो बड़े चुनाव बिहार में और बंगाल में होने जा रहे है. बिहार में तो बीजेपी और जेडीयू के गठबंधन के आगे कोई भी मजबूती से टिका हुआ नजर तक नही आ रहा है लेकिन बंगाल में स्थिति थोड़ी मुश्किल है क्योंकि टीएमसी पूरे जोर से डटी हुई है और तो और ममता बनर्जी ने अब केजरीवाल की फ्री बांटने वाली पॉलिटिक्स को बंगाल में भी लाने का निर्णय किया है.

ममता सरकार का ऐलान, तिमाही में 75 यूनिट तक इस्तेमाल करने वालो को मिलेगी फ्री बिजली और भी कई फ्री चीजे मिलेगी
ममता बनर्जी की सरकार ने ऐलान किया है कि जो भी उपभोक्ता अपने घर में 75 यूनिट हर तिमाही में यूज करते है उन्हें बिजली का बिल नही देना होगा. ये केजरीवाल सरकार से प्रेरित फैसला माना जा रहा है. यही नही ममता बनर्जी ने चाय के बागानों पर अगले एक साल के लिये लगने वाला आयकर भी पूरी तरह से हटा दिया है.

इसके अलावा एक और योजना शुरू की गयी है जिसका नाम बंधू प्रकल्प रखा है और इस योजना के तहत जो लोग अभी 60 साल से ऊपर के है और उन्हें कोई भी पेंशन नही मिलती है उन सभी को 1000 रूपये की मासिक पेंशन दी जायेगी. आपको बता दे बंगाल में काफी बड़ी संख्या में बुजुर्ग है और उनका वोट काफी महत्व रखता है. यानी ममता बनर्जी अब फ्री चीजे बांटने की राजनीति करके बंगाल में बीजेपी से अपनी सत्ता बचाने का प्रयास करेगी जिसमे वो किस हद तक कामयाब हो पाती है ये तो चुनावों के परिणाम कुछ समय बात पता चल ही जाएगा.

भारतीय जनता पार्टी के लिये ये चिंता की बात है कि ममता बनर्जी ने जो ये फ्री की चीजे बाँटने की शुरुआत बंगाल में कर दी है उसे किस तरह से भेदा जाए? एक बहुत बड़ा वर्ग है जो सिर्फ अपने निजी फायदे के लिये वोट देता है उसे किसी विचारधारा या राष्ट्रीय मुद्दों से ख़ास मतलब नही होता है.