दिल्ली में कांग्रेस की करारी हार, अब दिया इस बड़े नेता ने अपने पद से इस्तीफ़ा

212

देश की राजधानी दिल्ली के चुनावी नतीजे आखिरकार आ चुके है और इन चुनावों के बाद में कही न कही आम आदमी पार्टी ने खुदको बहुत ही शानदार तरीके से साबित किया है इस बात में कोई शक नही है. भारतीय जनता पार्टी ने इसमें आप को काफी अच्छी टक्कर दी है इस बात से इनकार नही किया जा सकता है. दोनों की फाइट काफी जबरदस्त रही मगर इसके बाद भी कोई एक है जो इस फाइट से बिल्कुल बाहर रहा तो वो थी कांग्रेस पार्टी जो अपना खाता तक नही खोल पायी.

एक सीट भी नही जीत सकी कांग्रेस पार्टी, कांग्रेस दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष ने दिया इस्तीफा
कांग्रेस पार्टी का प्रदर्शन इस बार दिल्ली में बेहद ही बदतर था जहाँ पर कांग्रेस अपनी जमानत तक जब्त करवा चुकी है. किसी भी एक भी सीट पर कांग्रेस जीत नही पायी और इससे बुरी परफॉरमेंस तीन तीन बार लगातार सत्ता में रह चुकी पार्टी के लिए हो नही सकती. इन सब पर जिम्मेदारी लेते हुए दिल्ली कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष गुप्ता ने इस्तीफा दे दिया है. उनके इस्तीफा देने का अर्थ यही निकाला जा रहा है कि वो खुदको एक फेल लीडर के तौर पर मान रहे है.

हालांकि राजनीतिकार ये भी कहते है कि हाई कमान ने अपने आपको बचाने के लिए सुभाष चोपड़ा को आगे कर दिया और इस्तीफा दिलवाकर के बात खत्म कर दी जबकि असल में कमी तो कही न कही हाई कमान की तरफ से और शीर्ष के नेताओं की तरफ से रही जिन्होंने कांग्रेस की दिल्ली चुनावी सभाओं में जान फूंकने की जरा भी कोशिश तक नही के और इससे हर कोई हैरान भी था कि कांग्रेस इस तरह से सरेंडर क्यों कर रही है?

खैर अभी तो सुभाष चोपड़ा का इस्तीफा सिर्फ शुरुआत भर माना जा रहा है. अब कयास लग रहे है कि कांग्रेस दिल्ली में अपने संगठन को फिर से नए सिरे से बनाने का प्रयास करेगी और इसके लिए जोर भी लगाएगी. हालाँकि इसमें मेहनत तो खूब लगने वाली है.