शाहीन बाग़ प्रदर्शन के खिलाफ याचिका पर सुनवाई खत्म, आया ये फैसला

389

पिछले लगभग दो महीनो से लगातार दिल्ली के शाहीन बाग़ में प्रदर्शन हो रहा है और इस प्रदर्शन से आम लोग कुछ ज्यादा ही परेशान हो रहे है ये भी हम लोग देख ही रहे है. लाखो की संख्या में लोगो का आना जाना मुश्किल हो गया है और कई लोगो की तो रोजी रोटी पर भी बन आयी है. ऐसी स्थिति में अब शाहीन बाग में हो रहे प्रदर्शनों के खिलाफ याचिका दायर हुई जिस पर सुप्रीम कोर्ट ने आज सुनवाई की और अभी के लिए कुछ एक बाते कही है जिन्हें आप टेम्परेरी डिसीजन की श्रेणी में भी रख सकते है.

शाहीन बाग़ के प्रदर्शन पर रोक लगाने से किया इनकार, मगर सार्वजनिक जगहों के इस्तेमाल पर जतायी चिंता
सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के बाद में ये जरुर कहा कि वो अभी शाहीन बाग़ के प्रदर्शन पर अचानक से रोक नही लगा सकते क्योंकि बड़ी संख्या में वहां पर लोग है. कोई भी अंतरिम आदेश देने से इनकार कर दिया है मगर इस मामले में दिल्ली पुलिस और केंद्र सरकार को एक नोटिस जारी कर दिया गया है जिसमें उनसे इस मामले में जवाब देने को कहा गया है.

सुप्रीम कोर्ट ने साथ ही साथ में ये भी कहा कि सार्वजनिक स्थलों का इस तरह से अनंतकाल के लिए प्रदर्शनों के लिए इस्तेमाल नही किया जा सकता है. इस मामले में सुप्रीम कोर्ट अगली सुनवाई 17 फरवरी को करेगा और जल्द ही इस सम्बन्ध में समाधान निकालने की कोशिश भी करेगा. हालांकि दिल्ली के उन लाखो लोगो को तो सुप्रीम कोर्ट से फ़िलहाल के लिए निराशा ही हाथ लगी है जो चाह रहे थे कि वो इस पर जल्द से जल्द फैसला दे.

अब सरकार को इस सम्बन्ध में जवाब देना है और शाहीन बाग़ कब खाली होगा ये कोई भी नही जानता है, जिस तरह से देश भर में नागरिकता क़ानून को लेकर के विरोध प्रदर्शन चल रहे है और चलते ही जा रहे है वो अपने आप में काफी चिंताजनक है और ऐसा लगता है मानो लॉ एंड आर्डर को खराब करने की साजिश चल रही है.