कोरोना वायरस बढ़ने के बाद पीएम मोदी ने चीन के राष्ट्रपति को लिखा पत्र, कही ये बात

205

फ़िलहाल के दिनों में चीन काफी बुरी हालत से गुजर रहा है. वुहान नाम के शहर से ये वायरस फैलना शुरू हुआ और देखते ही देखते ये पूरे चीन को अपनी जद में ले रहा है. हर कोई इससे बेहद ही परेशान भी है क्योंकि जिस तरह के हालात बने है उससे न सिर्फ चीन बल्कि दुनिया भर के बाकी देशो के भी प्रभावित होने का ख़तरा बढ़ गया है. ऐसे में सवाल ये है कि इन्हें रोका कैसे जाए? तो विज्ञान इसका निदान खोज ही रहा है मगर साथ ही साथ में सभी को एक संग खड़े होने की जरुरत भी है.

प्रधानमंत्री मोदी ने की हर संभव मदद की पेशकश, चीन के काम की सराहना भी की
कोरोना वायरस से जूझ रहे चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग को एक पत्र लिखा है जिसमे उन्होंने चीन को हर प्रकार की संभव मदद की पेशकश की है. अगर भारत कुछ भी कर सकता है तो उसमे चीन मदद मांग सकता है. यही नही प्रधानमंत्री मोदी ने चीन ने कोरोना से लड़ने के लिए जो भी इंतजाम किये है उनकी भी सराहना की है.

साथ ही साथ में भारतीय नगरको को हुबेई प्रांत से निकाल लाने में भी चीन के सहयोग के लिए उनका धन्यवाद किया है. भारत ने एयर इंडिया के प्लेन्स की मदद से चीन से अपने काफी सारे नागरिको को सुरक्षित करके निकाल लिया जिसमे चीन का जो सहयोग था वो भी सराहनीय माना जा सकता है इस बात में कोई भी शंका नही है.

ये जरुर है कि ऐसे समय में सारे के सारे देश के दुसरे के साथ में खड़े रहे और एकजुटता दिखाए क्योंकि कोरोना जैसा वायरस पूरी दुनिया के लिए और मानवता के लिए ख़तरा है. अगर समय रहते इसे रोका नही गया और इसका इलाज वैज्ञानिक इसका इलाज खोलने में असफल रहे तो फिर ऐसी स्थिति में धरती पर बहुत ही बड़ा ख़तरा हो सकता है.