बड़ी खबर: बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय को पुलिस ने हिरासत में लिया

354

देश भर में काफी ज्यादा माहौल में अफरा तफरी है. एक तरफ वो धडा है जो बीजेपी के हर फैसले के समर्थन में खड़ा है और दूसरा वो हिस्सा है जो हर उस फैसले के विरोध में खड़ा है जो कि भारतीय जनता पार्टी के द्वारा लिया जा रहा है. ऐसे में कई जगहों पर रैलियाँ हो रही है, कई जगहों पर प्रदर्शन हो रहे है और ऐसे में लोग अरेस्ट हो रहे है, जेलों में जा रहे है और पुलिस का सरदर्द भी बढ़ गया है. इन सबकी कड़ी में अब बंगाल में भी यही नजारा देखने को मिला.

CAA के समर्थन में रैली कर रहे थे, ममता की पुलिस ने कैलाश विजयवर्गीय समेत कई नेताओं को हिरासत में लिया
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ पश्चिम बंगाल की राजधानी कलकत्ता में कैलाश विजयवर्गीय नागरिकता संशोधन क़ानून के समर्थन में रैली कर रहे थे जिसमे मुकुल रॉय भी शामिल थे. जब वो रैली लेकर के निकले तो न सिर्फ उन्हें रैली करने से रोका गया बल्कि पुलिस ने कैलाश विजयवर्गीय समेत मुकुल रॉय और कई बीजेपी के नेताओं को कार्यकर्ताओं को भी हिरासत में ले लिया.

जब कैलाश विजयवर्गीय को गाडी में डालकर के पुलिस ले जा रही थी तब उन्होंने कहा कि उनकी आवाज को दबाया जा रहा है. यहाँ सिर्फ वही ही होने दिया जाता है जो कि जो कि ममता बनर्जी को पसंद हो बाकियों की आवाज को रोका जा है, हम लोकतांत्रिक तरीके से यहाँ पर अपनी गिरफ्तारी भी देंगे. इतनी साड़ी हड़बड़ी के बीच में सभी को पकड़ कर के ले जाया गया. उम्मीद की जा रही है कि बाद में सभी को छोड़ दिया जाएगा, अगर नही छोड़ा जाता है तो बीजेपी इसका नेशनल लेवल पर मुद्दा बनायेगी.

यही पार्टियां भाजपा के राज्यों में जब कोई पुलिस एक्शन लेती है या फिर कोई केन्द्रीय संस्था कार्यवाही करती है तो उसे बीजेपी की मनमानी बताती है और जब उनके अपने शासित राज्यों में ये सब होता है तो कही कोई जवाबदेही तय नही होती.