इस पार्टी के अध्यक्ष ने की अमित शाह से दो बार मुलाक़ात, हो सकता है भाजपा में विलय

729

भारतीय जनता पार्टी इन दिनों देश की सबसे बड़ी पार्टी है और विश्व में भी संख्याबल के मामले में देखे तो ये शीर्ष पर बैठती है और इस कारण से इसमें से कई दफा कुछ लोग निकलते भी है और कुछ का विलय भी होता रहता है जो कि एक सतत प्रक्रिया है. अब ऐसे में एक और खबर आ रही है जो झारखंड से जुडी है और अगर ऐसा होता है तो वहां के सारे के सारे सियासी समीकरण ही बदल सकते है जिसकी चर्चा इन दिनों वहाँ की स्थानीय मीडिया में भी काफी जोरो पर है.

दो बार अमित शाह से बाबूलाल की मुलाक़ात, झारखंड विकास मोर्चा के बीजेपी में विलय के कयास
बाबूलाल मरांडी झारखंड राज्य के बहुत ही बड़े नेता रहे है जो ना सिर्फ झारखण्ड विकास मोर्चा के अध्यक्ष और संयोजक है बल्कि वो इस राज्य के मुख्यमंत्री पद पर भी सेवा दे चुके है. संसद के भी सदस्य रह चुके बाबूलाल मरांडी ने हाल ही में लगातार दो बार अमित शाह से मुलाक़ात की है और सूत्र बताते है कि वो झारखंड विकास मोर्चा का विलय भारतीय जनता पार्टी में करने जा रहे है.

जब बाबूलाल से इस मामले में मीडिया ने सवाल पूछा तो बाबूलाल ने भी कुछ ऐसा ही जवाब देते हुए कहा कि उन्हें अगर विलय ही करना हो तो बीजेपी से अधिक अनुकूल दल और कोई भी नही है. इन दिनों राजनीतिक अस्थिरता का दंश झेल रहे झारखंड विकास मोर्चा के लिए भाजपा में मिल जाना कही न कही फायदे का सौदा ही समझा जा सकता है. हाँ अभी इस पर कोई भी आधिकारिक घोषणा नही हुई है लेकिन ऐसा हो जरुर सकता है.

भाजपा की पकड़ इन दिनों झारखंड में काफी कमजोर हुई है लेकिन अगर झारखण्ड विकास मोर्चा बीजेपी के नेतृत्व में चला जाता है तो भाजपा को अंको में दस से पंद्रह प्रतिशत तक की बढ़ोतरी राजनीतिक गणित के मुताबिक़ देखने को मिल सकती है और ये राजनीतिक लिहाज से काफी ज्यादा सही भी है.