फिर आयी शिवसेना बीजेपी में करीबियाँ, उद्धव ने की मोदी के इस फैसले की तारीफ़

796

एनडीए के दो बड़े साथी पिछले कुछ समय पहले ही एक दुसरे से छिटककर के दूर हो गये थे. आप समझ तो गये ही होंगे कि हम किन दो पार्टियों की बात कर रहे है? पहली तो भारतीय जनता पार्टी और दूसरी शिवसेना. उद्धव ठाकरे ने सत्ता का मोह चुना और वो अपनी विचारधारा को तिलांजली देते प्रतीत हुए जब उन्होंने कांग्रेस संग मिलकर के सरकार बना ली लेकिन इन दिनों उद्धव ठाकरे का मिजाज फिर से कुछ बदला बदला सा नजर आता है और हाल ही का बयान तो कुछ ऐसा ही एक बार फिर से बताने का प्रयास भी करता है.

उद्धव ठाकरे ने किया मन्दिर ट्रस्ट निर्माण का स्वागत, राउत ने भी दिया धन्यवाद
आज सदन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद जानकारी दी कि राम मंदिर के लिए ट्रस्ट गठन पर सरकार की जिम्मेदारी पूरी कर दी है और ट्रस्ट बन गया है जिसका काम अब मंदिर निर्माण करना होगा. इसी पर उद्धव ठाकरे ने कहा कि वो नरेंद्र मोदी सरकार के ट्रस्ट गठन के इस फैसले का खुलकर के स्वागत करते है. शिवसेना के प्रवक्ता संजय राउत ने भी कुछ ऐसा ही कहा.

संजय राउत ने सरकार के फैसले की सराहना करते हुए ट्विटर पर लिखा ‘सरकार के लिए इस निर्णय को लागू करना अनिर्वाय था. अदालत के निर्णय को लागू करने और कदम उठाने के खातिर मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को धन्यवाद देता हूँ,.’ इनके अलावा महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनवीस ने भी प्रधानमंत्री मोदी जी के इस कदम की सराहना करते हुए इसे ऐतिहासिक करार दिया है. अब उद्धव ठाकरे वैसे तो भाजपा से अलग हो गये है लेकिन फिर भी विचारधारा के चलते आपस में में मिलाप नजर आ ही जाता है.

आपको बता दे बीजेपी सरकार ने ट्रस्ट के गठन की घोषणा कर दी है जिसका दफ्तर दिल्ली के ग्रेटर कैलाश वन में होगा और यही से ही सारा कुछ निर्णय भी किया जाएगा की मंदिर किस तरह से बनेगा और वहाँ पर क्या कुछ होगा? सब कुछ अब तय होना शुरू भी हो चुका है.