केजरीवाल ने सुनायी हनुमान चालीसा, लेकिन भक्ति के लिये नही कुछ और वजह से

138

जैसे जैसे दिल्ली के चुनाव नजदीक आते जा रहे है वैसे वैसे राजधानी का मौसम भी बदलता ही जा रहा है. हर कोई ऐसे मौसम में अपनी अपनी बजा रहा है. किसी को कुछ चाहिए तो कोई कुछ और करना चाह रहा है. असल में मुकाबला दो पार्टियों के बीच माना जा रहा है जो केजरीवाल की पार्टी आप और मोदी जी की बीजेपी के बीच में है. इस संग्राम में कई आरोप भी लगे जहाँ पर केजरीवाल को बीजेपी ने हिन्दू विरोधी बताया और उन पर कई सारे आरोप भी लगाये कि वो हिन्दुओ के हित के लिए काम नही करते है.

केजरीवाल ने खुदको बताया हनुमान जी का भक्त, हनुमान चालीसा भी सुनायी
भारतीय जनता पार्टी के आरोपों पर आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविन्द केजरीवाल ने जवाब दिया और कहा कि उन्हें एंटी हिन्दू पेश करने की कोशिश की जा रही है जबकि ये सही नही है. हमारी सरकार ने तो दिल्ली के कई बुजुर्गो को वैष्णो देवी और ऋषिकेश की यात्राये भी करवाई है. इसके बाद में अरविन्द केजरीवाल ने हनुमान चालीसा की कुछ पंक्तियाँ भी गाकर के सुनायी ताकि वो खुदको हनुमान जी का भक्त साबित कर सके.

अरविन्द यही पर नही रुके बल्कि उन्होंने ये भी बताया कि वो सालो से कनोट प्लेस में शिवाजी स्टेडियम मेट्रो स्टेशन के पास में प्राचीन हनुमान मंदिर बना हुआ है वहाँ पर दर्शन करने के लिए भी जाते रहते है. अरविन्द केजरीवाल ने यहाँ पर बजरंग बली का सपोर्ट लेकर के हिन्दुओ को अपनी ओर आकर्षित करने की भरपूर कोशिश की है ताकि सभी लोग उन्हें वोट दे और अब ये किस हद तक संभव हो पाता है ये तो कुछ ही दिनों के भीतर साफ़ हो ही जाएगा.

हालांकि अभी इसमें जितना समय है उतने में बीजेपी अपनी पूरा जोर तो लगा ही रही है कि केजरीवाल की जो भी कमियाँ है उन्हें जनता के सामने रखा जाए और ज्यादा से ज्यादा वोट हासिल किये जाए. इतना जरुर है कि दिल्ली में चुनाव अब भाजपा काफी बढ़त बना रही है.