छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने कहा, योगी आदित्यनाथ के खिलाफ दर्ज को FIR

171

देश में इन दिनों में चाहे जो कुछ भी माहौल चल रहा हो लेकिन हर किसी की नजर फ़िलहाल एकदम राजधानी दिल्ली पर ही है और वजह बिलकुल साफ़ है. दिल्ली में इस 8 फरवरी को चुनाव होने वाले है और चुनावों में भाजपा और आम आदमी पार्टी दोनों ही अपनी अपनी तरफ से पूरा जोर लगा रहे है. सत्ता का संघर्ष चीज ही कुछ ऐसी है मगर ये इस हद तक चली जायेगी कि दो राज्यों के मुख्यमंत्री आमने सामने होंगे ये तो किसी ने अनुमान भी न लगाया होगा मगर इन चुनावों में वाकई में ऐसा हो रहा है.

योगी आदित्यनाथ के भाषणों से नाराज बघेल, कहा दर्ज हो एफआईआर
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल दुर्ग के एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए पहुंचे थे जहाँ पर उन्होंने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा और कहा कि वो भड़काने वाले बयान दे रहे है भाषण दे रहे है, जहाँ पर उन्होंने योगी जी पर और उनके साथ में अनुराग ठाकुर पर भी एफआरआर दर्ज करवाने की मांग कर दी. हालांकि मुख्यमंत्री पर किस तरह से ये एक्शन हो सकता है ये सोचना तो बघेल शायद भूल ही गये क्योंकि पुलिस तो खुद ही सीएम और होम मिनिस्टर के अंडर आती है.

भूपेश बघेल ही नही बल्कि आम आदमी पार्टी के लोग भी योगी आदित्यनाथ पर काफी हमलावर नजर आ रहे है. आप नेता संजय सिंह ने तो योगी आदित्यनाथ को मनोरोगी तक कह दिया और उन्हें अपना राज्य ठीक करने की सलाह देने लगे. इससे इतना तो साफ़ है कि योगी आदित्यनाथ के दिल्ली में चुनावी रैलियाँ करने से विपक्षी पार्टियों के अन्दर खलबली मच चुकी है और उसी के परिणाम स्वरुप इस तरह के बयान सामने आ रहे है.

अब जिस तरह के आरोप प्रत्यारोप का स्तर भारतीय राजननीति में हो गया है उसके बाद में कही न कही अब चुनावी समीक्षा की जरूरत है और चुनाव आयोग को भी और अधिक सख्त होने की जरूरत महसूस होती है क्योंकि अभी तो दिल्ली के चुनाव होने में एक हफ्ते का समय बाकी है और इतने में पता न क्या से क्या हो जायेगा?