महबूबा के हाथ से निकली अपनी ही पार्टी, पीडीपी नेता ने कही ये बात

315

कश्मीर में पिछले कुछ एक महीने में जो कुछ भी घटित हुआ है उस पर देश ही नही बल्कि पूरी दुनिया की नजर थी और जिस तरह से कश्मीर में इस पर डेवलपमेंट हुए और कश्मीर की लोकल लीडरशिप को नजरबन्द तक कर दिया गया वो हर किसी के लिया आकस्मिक ही था मगार ये सब चलकर के भी कितना चलता? किसी न किसी एक को तो घुटने टेकने ही पड़ते और अब पीडीपी ऐसा ही कुछ करते हुए नजर आ रही है. धारा 370 हटने के बाद में उनके एक्शन और उनके बयानों से तो कुछ ऐसा ही नजर आ रहा है.

जम्मू कश्मीर में 370 हटने के बाद एक भी जान नही गयी, इसका श्रेय सरकार को
अब जब जम्मू कश्मीर से पाबंदियां हट चुकी है. नेता अपनी अपनी बाते रखने लगे है और इसी बीच पीडीपी के नेता अल्ताफ बुखारी ने अपना बयान दिया है जो कि जम्मू कश्मीर के पूर्व वित्त मंत्री है और पार्टी के दिग्गज नेता भी रह चुके है. उन्होंने सरकार को जम्मू कश्मीर में रही शान्ति का क्रेडिट दिया है.

अल्ताफ बुखारी ने मीडिया से बात करते हुए कहा ‘370 हटने के बाद से एक भी जान नही गयी, जब भी जम्मू कश्मीर में कोई हादसा होता था तो लोगो की जान जाती थी लेकिन इस बार ऐसा नही हुआ. लोग घरो से नही निकले और इसका क्रेडिट सरकार को भी जाता है कि उन्होंने ऐसा कुछ नही किया और शान्ति बनाई.’ ये नजरिया सिर्फ अल्ताफ बुखारी का नही बल्कि कई नेता अब अलग भाषा बोलने लगे है. एक अन्य बड़े पीडीपी के सीनियर नेता ने तो ये  तक कह दिया था कि महबूबा मुफ़्ती के अनर्गल बयानों की वजह से सरकार को और भी ज्यादा प्रोत्साहन मिला कि वो जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाये.

अब जैसा माहौल जम्मू कश्मीर में पनप रहा है और वहाँ के नेता बयान दे रहे है उससे इतना तो साफ़ हो ही जाता है कि यहाँ पर अब सब कुछ पहले जैसा नही रहा है और वहां के लोकल नेता भारत को खुश करने के प्रयासों में लग गये है.