संजय राउत ने दिखाया अपना असली रंग, राहुल गांधी को भेजना चाहते है जेल

658

अभी हाल ही में शिवसेना और कांग्रेस ने गठबन्धन किया है और इस गठबंधन को लेकर के देश भर में चर्चा हुई कि क्या वाकई में ये कोई देश की सेवा के लिए किया गया है या फिर सिर्फ और सिर्फ किसी तरह से सत्ता हासिल करने की मुहीम थी. अभी हाल ही में संजय राउत जिस तरह से बोल रहे है उसे देखकर के तो कुछ ऐसा ही लग रहा है और लोग इस पर अपनी अपनी तरह से टीका टिप्पणी भी करने लग रहे है. चलिए फिर राउत के बयान पर नजर डालते है.

बातो ही बातो में साधा कांग्रेस पर निशाना, सावरकर पर बोलने वाले अंडमान की जेल में वक्त बिताये
संजय राउत ने मीडिया से बाते करते हुए सावरकर पर जवाब दिया और कहा कि सावरकर ने देश के लिए त्याग किया है. सावरकर जेल तक चले गये थे और जो भी उनकी तकलीफ समझना चाह रहे है, उनका विरोध करने वाले अगर उनकी तकलीफ समझना चाहते है तो उन्हें दो दिन का वक्त अंडमान की जेल में बिताना चाहिये.

आपको बता दे राहुल गांधी ही है जो सावरकर की सबसे ज्यादा बेज्जती करते है और वो तो उन्हें डरपोक और माफ़ी मांगने वाला जैसी संज्ञाएँ भी दे चुके है तो ऐसे में सवाल तो उठता ही है कि आखिर संजय राउत क्या राहुल गांधी को अंडमान की जेल में भेजा चाह रहे है? जब ये सवाल उठे तो शिवसेना ने इस बयान से किनारा कर लिया और आदित्य ठाकरे ने कहा कि इतिहास को लेकर के आपस में न भिड़े तो अच्छा है अभी देश के जो वर्तमान के मुद्दे है उन पर काम करने की उन पर फोकस करने की ज्यादा जरूरत है.

ये कोई पहली बार नही है जब राउत ने ऐसा कुछ कहा है. इससे पहले भी उन्होंने ये कह दिया था कि इंदिरा गांधी तो करीम से जाकर के मिलती थी जो एक बदमाश हुआ करता था. ऐसे में राउत के बयान ये तो साफ कर ही देते है कि शिवसेना और कांग्रेस के बीच में कुछ गड़बड़ तो चल रही है.