दुनिया के सबसे अमीर आदमी ने पीएम मोदी से मिलने के लिए वक्त माँगा, मोदी जी ने मना कर दिया

798

भारत के प्रधानमंत्री की हैसियत क्या है ये बात हम सभी लोग जानते है. जिस तरह से भारत और पीएम मोदी का कद बढ़ा है उससे कोई भी इनकार नही कर सकता है मगर सच ये है कि सरकार की भी आलोच्नना होती है. अब देश में हो तो समझ आता है लेकिन हाल ही में अमेरिका के अखबारों में भी ऐसा ही कुछ देखने को मिला है और इसका प्रभाव कही न कही अमेरिकी कोर्पोरेट्स पर भी पड़ने की संभावना नजर आती है. पीएमओ की तरफ से तो कुछ ऐसे ही संकेत मिल रहे है.

भारत आये जेफ़ बेजोस मोदी से मिलना चाहते थे, कार्यालय से नही मिला कोई जवाब
जेफ़ बेजोस जो अमेरिका के ही नही दुनिया के सबसे अमीर आदमी है. जिनके पास फ़िलहाल साढ़े 8 लाख करोड़ रूपये की सम्पति है वही जेफ़ बेजोस इन दिनों भारत में है और वो बस अब लौटने वाले है और लौटने से पहले वो कुछ कामो के चलते पीएम मोदी से मिलना चाह रहे थे जिसके लिए उन्होंने पत्र भी भेजा था लेकिन प्रधानमंत्री कार्यालय से उन्हें कोई भी जवाब नही दिया गया.

अब इसके पीछे दो कारण बताये जा रहे है पहला तो ये है कि कम्पीटीशन कमीशन ऑफ इंडिया में अमेजन इंडिया के खिलाफ जांच चल रही है और दूसरा ये कि जेफ बेजोस के अखबार वाशिंगटन पोस्ट में इन दिनों पीएम मोदी और उनकी सरकार के कामो की जमकर के आलोचना की जा रही है. अभी हाल ही में लागू हुए सीएए को लेकर के भी कई आलोचनात्मक लेख लिखे गये थे और तो और राणा अय्यूब जैसे पत्रकारों को वहाँ मौका दिया गया ताकि वो मोदी के खिलाफ अमेरिका में लिख सके ऐसे में भारत सरकार की छवि को उनके ही अखबार को धूमिल करने की कोशिश की गयी है.

भाजपा के ही एक महासचिव से जब इस मामले में पूछा गया तो उन्होंने सवाल तो टाल दिया लेकिन इतना जरुर कहा कि अब बीजेपी सरकार पहले कार्यकाल की तरह नही है. दुनिया को हमारी शर्ते माननी पड़ेगी. खैर मोदी सरकार का इतना सख्त रवैया किसी बड़े बिजनेसमेन के लिए पहली बार देखने में आया है.