आतं’कियों की मदद करने वाले डीएसपी के समर्थन में उतरी कांग्रेस, बीजेपी का पलटवार

654

अभी हाल ही में भारतीय इंटेलीजेन्स ने एक बहुत ही बड़ी कामयाबी हासिल की है. एक बहुत ही उच्च लेवल का पुलिस अधिकारी जिसका नाम देविंदर सिंह है उसे गिरफ्तार किया गया. देविंदर सिंह के घर से न सिर्फ गलत हथि’यार बरामद हुए बल्कि साथ ही साथ में उसी के घर से दो और आतं’की भी पकडे गये है. आरोप है कि 12 लाख रूपये की एवज में देविंदर सिंह को इन दोनों को राजधानी नयी दिल्ली पहुंचाने वाला था. मगर भारतीय गुप्त विभाग इतना मुस्तैद था कि न सिर्फ इसे नाकाम कर दिया बल्कि अरेस्ट भी कर लिया गया है, मगर इस पर भी कांग्रेस राजनीति कर रही है.

सरकार की कहानी संशय पैदा करती है, इसकी जांच होनी चाहिए
कांग्रेस की तरफ से की गयी प्रेस कांफ्रेस में रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि एक तरफ आप देविंदर सिंह को पुलिस मैडल दे रहे है और दूसरी तरफ वो आ’तंकियो की एंट्री करवा रहे थे. सरकार कह रही है कि उसको इसकी एवज में 12 लाख रूपये मिलने वाले है. ये पूरी कहानी ही संशय पैदा करती है और इसकी जांच होनी चाहिये.

सुरजेवाला के इस बयान पर भाजपा ने भी पलटवार करते हुए जवाब दिया है. संबित पात्रा कहते है कि कांग्रेस पाकिस्तान की भाषा बोल रही है. क्या उन्हें इस देश की इंटेलीजेन्स पर, देश की सेना पर और देश की सरकार पर भरोसा नही है? अगर नही है तो कांग्रेस के अध्यक्ष और राहुल गांधी सामने आकर के देश की जनता से ये बात कहे. संबित पात्रा से खुले तौर पर कांग्रेस की नीयत पर ही सवाल खड़े कर दिये.

खैर पिछले एक दशक से ये तो कांग्रेस का इतिहास बन गया है कि वो लगातार ऐसे मुद्दे उठा रही है जिससे उनका नुकसान ही होता है. अगर पुलिस, आर्मी और इंटेलीजेन्स कुछ काम कर रही है तो फिर ऐसे में किसी को कुछ भी कहने या फिर बोलने की जरूरत कहाँ है? देश के स्ट्रक्चर पर भरोसा न हो तो ही लोग इस तरह की बाते करते है.