CAA को लेकर अब योगी सरकार ने बड़ा ऐलान कर दिया है

296

इन दिनों देश में एक ही मुद्दा है जो सबसे ज्यादा छाया हुआ है और वो है नागरिकता संशोधन क़ानून. इसके आने के बाद से ही सरकार और विपक्ष के बीच का क्लेश दिन ब दिन बढ़ता ही चला जा रहा है और ये बढ़ते बढ़ते इस हद तक जा पहुंचा है कि इसकी कोई सीमा तक नजर नही आती है. मगर अब ऐसा लग रहा है कि इसका परिणाम नजर आने वाला है क्योंकि क़ानून पास हो चुका है और अब राज्य सरकारों की बारी है कि वो अपने लॉ एंड आर्डर पॉवर की मदद से इसे लागू करने में केन्द्र की मदद करे.

योगी सरकार का ऐलान, सबसे पहले यूपी में लागू होगा सीएए
इस बात की पूरी जानकारी योगी सरकार के मंत्री और प्रवक्ता सिद्धार्थ नाथ सिंह ने दी और बताया कि देश में सीएए को सबसे पहले हम ही लागू करेंगे. केंद्र से हमें जैसी जो भी डिटेल्स मिलेगी उन्हें लागू करने में यूपी सबसे आगे रहेगा. रिपोर्ट्स की माने तो योगी सरकार ने तो अभी से ही पाक, अफगान और बांग्लादेश से आये हुए शर्णार्थियो की पहचान करना शुरू कर दिया है ताकि उन्हें बादमे आसानी से नागरिकता दी जा सके.

अब क्योंकि यूपी में योगी सरकार है तो वो इस काम को काफी तेजी और फुर्ती के साथ में करेगी और बाकी के राज्य जहाँ पर भी भाजपा का शासन है उन सभी जगहों पर ये क़ानून फटाफट से लागू हो जायेगा इस बात में कोई भी शंका नही है लेकिन सरकार को दिक्कत आयेगी उन राज्यों में जहाँ पर गैर भाजपा की सरकार है. जैसे टीएमसी की ममता बनर्जी पहले ही इसके खिलाफ मोर्चा खोले हुए है, कांग्रेस हाईकमान अपने मुख्यमंत्रियो को इस पर रास्ता निकालने की बात कह रहा है

वही अभी हाल ही में एनडीए से ही अलग हुए उद्धव ठाकरे भी इस क़ानून को लेकर के आनाकानी करते हुए नजर आ रहे है. ऐसी गंभीर स्थिति में इस कानून को पास करवा पाना किसी चुनौती से कम तो बिलकुल भी नही होगा लेकिन सरकार का कहना है कि हम प्रयास कर रहे है और ये हो जाएगा.