मोदी सरकार है जनगणना करने को तैयार, घर पर आकर आपसे पूछे जायेंगे ये सवाल

296

जैसा कि हम सभी लोग जानते है कि हर एक दशक में एक बार जनगणना की ही जाती है और ये काफी जरूरी भी है क्योंकि अगर हमें ये ही नही पता होगा कि देश में कितने लोग है और देश का डेमोग्राफिफ फिलहाल क्या है? तो फिर हम उसके लिए सही तरह से योजना भी नही बना पाएंगे और ये बात सही है. ऐसे में सरकार ने हाल ही में एनपीआर लाने की घोषणा भी कर ही चुकी है तो फिर आपको तैयार हो जाना है क्योंकि आपसे कुछ एक सवाल पूछे जायेंगे.

अगर आप भारत के नागरिक है तो एक अप्रेल के बाद में कोई भी सरकारी कर्मचारी आपके घर पर विजिट कर सकता है और विजिट करने के बाद में वो कर्मचारी आपसे कुछ ख़ास एक जानकारी लेगा जो जनगणना और एनपीआर का मिश्रित रूप होगा और इनमे ये 32 तरह की चीजे पूछी जानी है.

  1. आपकी बिल्डिंग का नम्बर
  2. आपका सेन्सस हाउस नम्बर
  3. आपके मकान और सीलिंग में किस मटेरियल का उपयोग किया गया
  4. मकान का इस्तेमाल आप किस काम के लिए कर रहे है
  5. फ़िलहाल मकान की स्थिति कैसी हो रखी है?
  6. मकान का नम्बर
  7. घर में रहने वाले कुल सदस्यो की संख्या
  8. घर के जो भी मुखिया है उनका नाम
  9. मुखिया पुरुष है या फिर स्त्री
  10. मुखिया एससी एसटी समुदाय से ताल्लुक रखते है क्या?
  11. मकान का मालिकाना स्तर
  12. घर में मौजूद कमरों की संख्या
  13. फिलहाल घर में रह रहे शादीशुदा जोड़ो की संख्या कितनी है
  14. आपके पीने के पानी का स्त्रोत क्या है
  15. घर में पानी आता है?
  16. ड्रेनेज सिस्टम
  17. शौचालय है या फिर नही?
  18. अगर है तो इंडियन है या फिर अन्य तरह के?
  19. आप बिजली किस स्त्रोत से ले रहे है?
  20. घर में रसोई है? अगर रसोई है तो उसमे एलपीजी कनेक्शन है?
  21. रसोई में आप किस तरह का ईंधन इस्तेमाल कर रहे है
  22. रेडिओ का  इस्तेमाल करते है?
  23. आपके घर पर टीवी है?
  24. आपके पास में इन्टरनेट की सुविधा पहुंची कि नही
  25. आपके पास लैपटॉप या फिर कंप्यूटर है कि नही
  26. मोबाइल फोन का उपयोग करते है या फिर नही
  27. साइकिल या स्कूटर या फिर मोपेड है या फिर नही
  28. कार वेन या फिर जीप है या फिर नही?
  29. आपके घर में मुख्य रूप से किस अनाज का उपयोग होता है?
  30. अंत में आपको अपना मोबाइल नम्बर भी देना है.

हालांकि इन सवालों और एनपीआर को लेकर के काफी ज्यादा विवाद देखने को मिला है और कई लोग तो इस पर जानकारी न देने का भी बहाना बना रहे है मगर सरकार है तो जानकारी तो देनी ही होगी.