राष्ट्रपति भवन पर हमला करने चले थे जेएनयू छात्र, पुलिस अधिकारी ने रोका तो लड़की अंगूठा खा गयी

646

जेएनयू फिर से एक बार चर्चा में है और चर्चा में होने के पीछे का कारण हर बार एक ही होता है. हर बार पढ़ाई लिखाई छोड़कर के छात्र प्रदर्शन करने लग जाते है और इस बार तो प्रदर्शन अलग ही लेवल पर ले जाने की तैयारी हो रही थी. सर्वर रूम में तोड़ फोड़ मचाने वाले जेएनयू के छात्रो ने तय किया कि अब वो राष्ट्रपति भवन की तरफ बढ़ेंगे और वहाँ पर प्रदर्शन करेंगे. अब इनका प्रदर्शन कई बार तोड़ फोड़ करने वाला भी होता है जिसके चलते इन्हें राष्ट्रपति भवन जाने नही दिया जा सकता था और पुलिस इन्हें रोक रही थी.

पुलिस अधिकारी प्रताप सिंह ने भीड़ को रोकना चाहा, लडकी ने उन्ही को चोट दे दी
यहाँ पर पुलिस बल पूरे जोर शोर से लगा हुआ था ताकि किसी भी तरह से जेएनयू के छात्र राष्ट्रपति भवन न पहुँच जाए क्योंकि राष्ट्रपति के साथ ऐसी किसी अनहोनी की आशंका से इनकार नही किया जा सकता है जैसी कभी जेएनयू के प्रोफेसरों के साथ कमरे में बंद करके ये छात्र करते है. पुलिस अधिकारियों ने मोर्चाबंदी की और ऐसे में सभी छात्र जबरदस्ती वहां से आगे जाने का प्रयास करने लगे.

जनसत्ता की रिपोर्ट के मुताबिक़ इन सबके बीच एक जेएनयू की ही महिला स्टूडेंट ने एक आईपीएस अधिकारी के अंगूठे को ही खा लिया या फिर काट लिया. इससे उन्हें काफी चोट आयी है और जिस तरह की हरकत ये स्टूडेंट्स कर रहे है उसके बाद में चिंता भी जाहिर तौर पर बनी ही रहती है कि आखिर ये सब कुछ हो क्या रहा है? पुलिस अधिकारियों तक को भी नही बख्शा जा रहा है और नारे लग रहे है तेरा मेरा रिश्ता क्या…

खैर अभी तो प्रदर्शन पहले की मात्रा में काफी कम हो गये है और प्रशासन ने इन पर नियंत्रण कर लिया है मगर अभी भी ये लोग वीसी को हटाने की मांग पर अड़े हुए है और इसके पीछे का कारण ये है कि वीसी इन छात्रो की हरकतों को बर्दाश्त नही करते है और उस पर एक्शन ले लेते है.