जेएनयू वालो का सपोर्ट करने गयी थी दीपिका, इस मशहूर फिल्म डायरेक्टर ने बखिया उधेड़ दी

259

दीपिका पादुकोण की फिल्म छपाक आने वाली है और फिल्म का प्रमोशन करने के लिए दीपिका जहाँ भी जगह मिले वहाँ पर जा रही है ताकि फिल्म को पब्लिसिटी मिले और पब्लिसिटी मिल भी रही थी लेकिन अधिक की चाह में दीपिका सबसे सेंसेटिव मुद्दे में हाथ तापने के लिए जेएनयू में पहुँच गयी जहाँ पर दीपिका हर तरह से अपने आपको कन्हैया के साथ दिखाने की कोशिश कर रही थी. कई लोगो ने दीपिका का सपोर्ट भी किया लेकिन बॉलीवुड में कुछ लोग है जो आज भी सही के साथ खड़ा होने की हिम्मत रखते है और उन्होंने ऐसा ही किया.

डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री ने दीपिका को बताया पीआर टीम की कठपुतली, अमेरिका में ऐसा करके दिखा दे जैसा भारत में किया
जाने माने डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री ने दीपिका की तारीफ़ की कि उन्होंने इतने अच्छे सामाजिक मुद्दे पर फिल्म की और कहते है कि मुझे उम्मीद थी कि वो प्रमोशन के लिए निर्भया की माँ या ऐसे लोगो के साथ में जाकर के फोटो खिंच्वायेगी और पोजेटिव पब्लिसिटी करेगी लेकिन उनकी पीआर टीम ने कहा ये सब बोरिंग हो गया है जेएनयू जाओ. इसके लिए दीपिका को ब्लेम नही कर सकते क्योंकि वो तो एक कठपुतली है, जो नचा रहा है वो असली मास्टर माइंड है.

अब दीपिका ने अपना सेन्स यूज नही किया और वो उन कुछ चंद स्टूडेंट्स के साथ जाकर के खड़ी हो गयी. आप समझ रहे है कि देश में करोडो स्टूडेंट्स है वो सब भारत के साथ है. अगर दीपिका ने उन्हें नही चुना. आप खुद सोचिये कि दीपिका अगर हॉलीवुड में कोई फिल्म करती जो उन्होंने विन डीजल के साथ में की भी थी. क्या वो उसका प्रमोशन कम्यूनिस्ट स्टूडेंट्स के साथ में जाकर के अमेरिका के किसी कॉलेज में कर लेती? अगर वहां ही कर सकती तो यहाँ क्यों?

विवेक अग्निहोत्री अपनी जिद, हेट स्टोरी और ताशकंद फाइल्स जैसी शानदार फिल्मो के लिए जाने जाते है और वो सामजिक मुद्दों पर भी अपनी काफी बेबाक राय रखते है और विचारों से वो काफी राष्ट्रवादी है.