प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज, 1 फरवरी को है सुनवाई

221

नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री है और अमित शाह देश के गृहमंत्री है. मतलब दोनों ही इस मुल्क की सबसे बड़ी ताकत है इस बात को कोई भी नकार नही सकता है और ये बात सच है लेकिन ज्यूडिशियरी को संविधान ने जो पॉवर दी है वो किसी को भी कटघरे में खड़ा सकती है और उसे आदेश तक दे सकती है अगर वो संविधान के दायरे में हो और लगता है हाल ही में ऐसा ही कुछ यहाँ पर भी होते हुए नजर आ रहा है जो काफी हैरान भी कर रहा है.

वकील एचके सिंह ने दर्ज करवाया है केस, 2014 में किये गये वादे पूरे न करने का आरोप
रांची में एक वकील है जिनका नाम है एच के सिंह और उन्होंने मोदी और शाह पर धोखाधड़ी का आरोप लगाते हुए अदालत में केस दर्ज करवाया है और मामला दर्ज हो भी चुका है. वकील का कहना है कि मोदी और शाह ने घोषणापत्र में कई बाते कही, अकाउंट में 15 लाख देने तक के वादे किये. हमारे अन्दर झूठी उम्मीद जगाई, अब बीजेपी के नेताओं की चालाकी और धोखे से मैं बेहद ही ठगा हुआ सा महसूस कर रहा हूँ.

कोर्ट ने मामले की सुनवाई अगले महीने यानी 1 फरवरी को रखी है और उस दिन कोर्ट इस पर क्या कहता है ये भी देखने वाली ही बात होगी. अब जब से ये मामला कोर्ट में पहुंचा है तब से कांग्रेस पार्टी को भी बोलने का मौक़ा मिल गया है. कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता आलोक दुबे ने बयान जारी करते हुए कहा कि जनता अब बीजेपी झूठ से तंग आ चुकी है. लोगो ने इनके आधारहीन बातो और वादों के खिलाफ प्रतिक्रिया देना शुरू कर दिया है. एक समय ऐसा भी आयेगा जब लोगो का गुस्सा चरम पर पहुँच जायेगा और वो बीजेपी के खिलाफ खड़े होंगे.

अब भाजपा की तरफ से इस पर कोई प्रतिक्रिया नही दी गयी है क्योंकि इस तरह से हर रोज कई और नये लोग आरोप लेकर के खड़े हो जायेंगे तो किस किस को जवाब देंगे? ऐसे में कोर्ट की टिप्पणी का ही इंजतार है.