CAA और NRC से डरे बांग्लादेशी घुसपैठिये, अँधेरे में वापिस भाग रहे अपने देश

313

देश के गृहमंत्री अमित शाह ने कुछ दिन पहले ही देश में नागरिकता संशोधन क़ानून पास करवा लिया है और एनआरसी पर देश भर में चर्चाये होते हुए देखी जा सकती है. कई लोग इसके विरोध में प्रदर्शन कर रहे है और कई लोग ऐसे भी है जो मानते है कि इससे देश में भेदभाव हो रहा है मगर यकीन मानिए अभी तक तो ये क़ानून देश में पूरी तरह से लागू होना शुरू भी नही हुआ है कि इसके रिजल्ट नजर आने लगे है और रिजल्ट सकारात्मक है इस बात में कोई दो राय नही है.

बांग्लादेश बॉर्डर गार्ड्स ने पकडे भारत से वापिस लौटते अपने ही यहाँ के लोग, और भी कई वापिस जाने की फ़िराक में
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ हाल ही के दिनों में भारत की ओर से बान्ग्लादेश की तरफ पलायन बढ़ चुका है. बांग्लादेश बॉर्डर गार्ड्स ने कई लोगो को पकड़ा है जो लोग सीमा पार कर उनके देश में घुस रहे थे और जब उन्हें पकड़ा गया तो कहा गया कि वो वही के ही लोग है. इतना ही नही अभी और भी कई बड़ी संख्या में लोग है जो वापिस जाने की फिराक में है.

इन हालातो के चलते बांग्लादेश बॉर्डर गार्ड्स ने सीमा से सटे गाँवों के लोगो के साथ मिलकर के एक कमिटी बनाई है जो रात के अँधेरे का फायदा उठाकर के इधर आने वालो को पकड़ने में मदद कर रही है. दरअसल समस्या ये है कि भारत बांग्लादेश की सीमा पर कई जगहों पर तार और लाइट नही है जिसके चलते लोग एक साइड से दूसरी साइड बड़े ही आराम से आ जा पाते है. हालांकि भारत के लिए भी इसी वजह से ही ये समस्या खड़ी हुई थी.

खैर जो भी है अभी न सिर्फ सरकार के सख्त होने से भारत में होने वाला पलायन रूका है बल्कि जो लोग गलत तरीके से भारत में रह रहे थे वो भी वापिस भागने लगे है. अब इसे कई लोग माने या फिर न माने लेकिन मोदी सरकार की कामयाबी तो है.