प्रधानमंत्री मोदी ने दिये संकेत, CAA के बाद ला सकते है ये एक और नया क़ानून

213

देश में इन दिनों बदलाव की हवा चल रही है और बड़ी ही तेजी के साथ में चल रही है. एक के बाद एक आन्दोलन हो रहे है, सरकार बदलाव ला रही है और कई ऐसे क़ानून भी अस्तित्व में आ रहे है जिनकी उम्मीद तक न थी. पहले तीन तलाक हटा, इसके बाद अनुच्छेद 370 हटा और अभी हाल ही में नागरिकता संशोधन क़ानून भी ले आये मगर लगता है कि मोदी सरकार इस पर ही रूकने वाली नही है और इसका संकेत हाल ही में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने खुद से ही दे भी दिया है.

मदन मोहन मालवीय जयंती पर इवेंट में पहुंचे थे प्रधानमंत्री, यूनिफार्म सिविल कोड की तरफ किया इशारा
अभी हाल ही में मदन मोहन मालवीय जी की जयंती थी जिसे मनाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी पहुंचे थे मगर उन्होंने यहाँ पर न सिर्फ उन्हें श्रद्धांजली दी बल्कि लेफ्ट और लिबरल लोगो के लिए चिंता भी छोड़ गये. पीएम मोदी ने यहाँ पर बोलते हुए कहा कि अनुच्छेद 370 की विदाई हो गयी है, राम मंदिर पर कार्य हो रहा है और सीएए भी हो गया है. अब उनके आगे जो कार्य बाकी है इसके लिए देश के हर लोग भारतवासी और हम लगातार लगे हुए है.

अब बाकी के कार्यो से आप साफ़ तौर पर समझ सकते है कि मोदी जी के बाकी कार्य जनसँख्या नियंत्रण क़ानून और यूनिफार्म सिविल कोड है. अगर राज्यसभा में सरकार को इसी तरह से छोटे दलों के सांसदों का साथ मिलता रहा तो फिर ये काम भी हो जाएगा और मोदी सरकार के बचे हुए दो बड़े एजेंडे वाले काम भी पूरे हो जायेंगे जिसके बाद सिर्फ और सिर्फ इकनोमिक वादों पर काम करना बाकी रहेगा.

ये अपने आप में रिकॉर्ड की तरह है जिस तरह से मोदी और शाह की जोड़ी लगातार एक के बाद एक वादे को पूरा कर रही है और अपने समर्थको को खुश कर रही है इसका प्रभाव जाहिर तौर पर आने वाले चुनावों में पड़ेगा ही पड़ेगा चाहे राज्यों में क्षेत्रीय नेतृत्व कमजोर होने के चलते कुछ भी क्यों न हो रहा हो?