सोनिया गांधी ने खुद इटली से आकर भारत की नागरिकता ले ली, अब दूसरो को मिल रही है तो

126

भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने हाल ही में एक बहुत ही बड़ा और ऐतिहासिक निर्णय लिया है जिसकी कई लोगो को उम्मीद भी थी. भारत में नागरिकता संशोधन क़ानून बनकर के लागू हो चुका है लेकिन कांग्रेस पार्टी लगातार इसका विरोध कर रही है और इसका विरोध करने के लिये कांग्रेस पार्टी तरह तरह के तर्क भी दे रही है. सोनिया गांधी ने तो इसे देश को तोड़ने वाला तक बता दिया जिसका जवाब तो आना था और भाजपा के ही काफी जाने माने मंत्री और नेता अनिल विज ने इस पर जवाब दिया है.

सोनिया गांधी पर भड़के अनिल विज, बताया दूसरो की तकलीफ न समझने वाला
अनिल विज को तो आप जानते ही होंगे. हरियाणा से भारतीय जनता पार्टी का बहुत ही बड़ा चेहरा है और सरकार के करीबी है. बिज ने बयान जारे करते हुए कहा ‘देश को जलाने के लिए ममता बनर्जी और सोनिया गांधी जैसे नेताओं ने युनियन बना रखी है जिसमे इमरान खान भी शामिल है. इनका काम सिर्फ और सिर्फ देश में लोगो को आपस में लडवाना है.’

जब सोनिया गांधी को नागरिकता चाहिए थी तब तो उन्होंने इटली से भारत आकर के नागरिकता ले ली, लेकिन अब दूसरो को नागरिकता मिल रही है तो उस पर सवाल उठा रही है. अनिल विज ने इसी के साथ में ये भी साफ़ तौर पर बताया कि सीएए से किसी की भी नागरिकता जाती नही है बल्कि बाहर वालो को नागरिकता दी जाती है इसलिए किसी को भी डरने की जरूरत नही है. विज हमेशा से ही अपने इस तरह के आक्रामक बयानों को लेकर के जाने जाते है और जब भी वो बोलते है वो सुर्खियाँ जरुर बन जाता है क्योंकि उनके तेवर ही इतने ज्यादा तल्ख़ और तेज होते है.

हालांकि अब सारे के सारे विरोध प्रदर्शन और तोड़फोड़ लगभग न के बराबर रह गये है. राजधानी से लेकर के बंगाल तक जो भी भीड़ घरो से निकल रही थी वो अब शांत हो कर के बैठ गयी है और देश में काफी हद तक शान्ति कायम हो चुकी है जो कि एक अच्छी खबर है.