शाजिया इल्मी ने लगाये अपने ही पार्टी के नेताओ पर ये आरोप, अन्दर ही अन्दर साथ में हो रहा ऐसा

74

देश की राजधानी दिल्ली में चुनाव जल्द ही आने वाले है और इनसे पहले बीजेपी की प्रदेश इकाई के अन्दर अलग ही किस्म की कलह शुरू होते हुए नजर आ रही है जिसकी शायद किसी ने कल्पना भी नही की थी. आपको मालूम तो होगा कि शाजिया इल्मी बीजेपी की दिल्ली प्रदेश उपाध्यक्ष है और वो साल 2015 से ही आम आदमी पार्टी छोड़कर के बीजेपी के लिए काम कर रही ही. शाजिया मीडिया में भी बीजेपी का पक्ष मुखरता के साथ में रखते हुए नजर आती है लेकिन इन दिनों शाजिया इल्मी अपनी ही पार्टी से थोडा नाराज है.

अपनी अनदेखी करने का लगाया आरोप, पीएम मोदी की रैली में भी मंच पर जगह नही मिली
शाजिया इल्मी ने व्हाट्स एप्प के ग्रुप में अपनी बाते रखी जो लीक हो गयी है. शाजिया इल्मी ने कहा कि इन दिनों पार्टी में उनकी अनदेखी की जा रही है. उन्हें कई उच्च स्तरीय बैठको में भी जगह नही दी जाती है, उनकी बातो को तरजीह नही दी जाती है और तो और जब रामलीला मैदान में पीएम मोदी की रैली थी तब भे उन्हें मंच का एक्सेस पास नही दिया गया था.

शाजिया इल्मी के इस तरह की अनदेखी को केन्द्रीय नेतृत्व ने काफी गंभीरता से लिया है क्योंकि वो कोई छोटी मोटी नेता तो बिलकुल भी नही है. अब कई लोग इसमें मनोज तिवारी पर दोष मढने में लग रहे है तो कई लोग इसमें उनकी ही गलती बता रहे है मगर अब क्योंकि मामला ऊपर तक चला गया है तो जाहिर तौर पर इस पर कार्यवाही भी हो ही जायेगी क्योंकि चुनाव अब नजदीक है और बीजेपी केजरीवाल से पार पाने के लिए एडी चोटी का जोर लगाने की कोशिश करेगी.

शाजिया इल्मी न सिर्फ बीजेपी की बड़ी नेता है बल्कि वो बुद्धिजीवी वर्ग की भी काट है जिसमे वो मुस्लिम वर्ग का और वहां की महिलाओं का पक्ष रखते हुए नजर आती है जिससे बीजेपी को इसमें काफी फायदा मिलता है और ये उनके लिए काफी महत्वपूर्ण है.