CAA का विरोध करने वालो से पाकिस्तानी हिन्दुओ ने की ये अपील

79

इन दिनों में देश के माहौल में ही धरना प्रदर्शन घुला हुआ नजर आता है और इस प्रदर्शन के पीछे कही न कही विपक्षी दलों का समर्थन भी रहता ही है इस बात से इनकार नही किया जा सकता है. नागरिकता संसोधन बिल के पास होने के बाद से ही ये क़ानून बन गया है और क़ानून बनने के साथ ही साथ में अब इसके विरोध में कई सुर भी है जो उठने लग गये है. कोई कुछ कह रहा है तो कोई कुछ कह रहा है और ऐसे में सबसे ज्यादा तकलीफ में वो हिन्दू और अल्पसंख्यक है जो पाकिस्तान से आ रहे है.

हम अपना सब घर संसार छोडकर के यहाँ आये है, आप नही अपनाएंगे तो कहाँ जायेंगे?
पाक से आये हुए कई परिवार जयपुर में तो कई दिल्ली के मजनू का टीला पर बसे हुए है. इनमे से एक महिला जिनका नाम मीरा दास है वो मीडिया से बात करते हुए बताती है कि हम लोग अपना घर परिवार सब कुछ छोड़कर के यहाँ पर आ गये है. अगर आप लोग हमें नही अपनाएंगे तो फिर हम लोग जायेंगे कहाँ? कृपया करके ये सब प्रदर्शन रोक दीजिये.

एक और महिला जिसका नाम सोना दास है वो भी पाकिस्तानी हिन्दू महिला है जो अपने परिवार के साथ में भारत में रहने के लिए आयी है. उन्होंने एक मीडियाकर्मी से बात करते हुए कहा कि जिस तरह की हालत में हम लोग रहकर के आये है उसमे कभी ये लोग रहे होते तो ये लोग इस तरह से प्रदर्शन नही कर रहे होते. इस क़ानून की वजह से हम लोगो के बीच में एक उम्मीद की किरण जगी है.

पाक से आये हुए और बांग्लादेश से आये हुए हिन्दू और सिख धर्म के लोग कही न कही इस देश में बस रहे है और बसकर के सपना संजो रहे है कि उनकी पीढ़िया कम से कम अब शान्ति से भरा हुआ जीवन जी सकेगी लेकिन ये वाकई में कब होगा ये तो सरकार ही बता सकती है.