योगी सरकार ने भेजा 28 और लोगो की पहचान कर उन्हें नोटिस, भरने होंगे इतने लाख रूपये

268

पिछले कुछ दिनों में नागरिकता संशोधन क़ानून को लेकर के काफी ज्यादा बवाल हुआ था और ये बवाल इस हद तक बढ़ गया था कि सरकारी सम्पतियो समेत कई लोगो की निजी  सम्पति तक स्वाहा हो गयी थी. ये अपने आप में काफी ज्यादा बूरा लगने वाला भी है जब अपने ही देश की सम्पति इस तरह से धू धू करके जलने लग जाए लेकिन लगता है अब इन सबकी अक्ल ठिकाने लगने वाली है और इनकी अक्ल को ठिकाने लगाने के लिए काम कर रहे है खुद प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ.

रामपुर में भेजा 28 लोगो को नोटिस 14.86 लाख रूपये की वसूली होगी
रामपुर में फ़िलहाल लगभग 28 लोगो की पहचान की जा चुकी है जिनसे लगभग चौदह लाख रूपये वसूल किये जाने है. इन्होने जिस तरह से सार्वजनिक सम्पति को नुकसान किया है इन सभी से ही उसका पैसा भी वसूल किया जाएगा और ये काफी ज्यादा जरूरी भी माना जा रहा है क्योंकि हर बार जब भी धरने वगेरह होते है तो लोग उसकी आड़ में पब्लिक प्रॉपर्टी को बड़ा नुकसान पहुंचाते है. हालांकि लोगो ने ये दलीले देनी शुरू कर दी है कि वो तो गरीब है पैसा नही दे सकते है.

अगर कुछ लोग ऐसे है जो पैसा दे पाने की हालत में नही है तो फिर उनकी सम्पति को जब्त करके उससे सारा पैसा वसूला जायेगा और कुछ भी नही होगा तो फिर कोर्ट में ले जाकर के जेल की सजा तक भी दिलवाई जा सकती है. ऐसे में कुछ लोग कह रहे है कि इसका उपयोग आम लोगो को तंग करने के लिए भी हो सकता है तो सरकार का कहना है कि ऐसे आंदोलनों की आड़ में फिर हम नुकसान कब तक झेलेंगे?

खैर सरकार की दलील भी अपनी जगह पर सही है और अभी तो ये सिर्फ और सिर्फ शुरुआत भर है. पूरे उत्तर प्रदेश में कई हजार लोगो से वसूली की जानी है जिनकी पहचान की जा रही है और इसके बाद उनका भी नोटिस के लिए नम्बर आने वाला है.