नागरिकता संशोधन बिल पर राजस्थान के मुख्यमंत्री ने भी बड़ा बयान दिया है

320

इन दिनों देश में काफी बवाल हो रहा है और क्यों हो रहा है ये किसी को भी बताने की जरूरत नही है. नागरिकता संशोधन बिल को पास करवा दिया गया जिसके बाद से ही ये क़ानून बन चुका है और अब तो बस इस बिल के कानून बनने की देर थी जो बन गया है लेकिन यही चीज अब मोदी सरकार के लिए परेशानी का सबब बनी हुई है क्योंकि देश भर में इस वजह से विरोध प्रदर्शन हो रहे है और बड़े ही जोरो पर हो रहे है.

गहलोत ने बताया मोदी सरकार को घमंडी, सबको साथ लेकर नही चलते है
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत मोदी सरकार द्वारा लाये गये नागरिकता क़ानून पर कहते है कि वो इसे राजस्थान में लागू नही होने देंगे. अशोक गहलोत ने ये तक कहा कि देश में हर तरफ आग लगी हुई है. कश्मीर पिछले चार महीनो से बंद है, अभी हाल ही में नार्थ ईस्ट को भी बंद करना पडा है. ये लोकतंत्र है यहाँ पर सबकी सुननी पडती है चाहे वो लोग आपसे सहमत को या फिर असहमत हो.

अब अगर आपको देश चलाना है तो सभी के सभी वर्गों को साथ लेकर के चलना ही पड़ेगा उसके बिना कुछ नही हो सकता है. कोई भी किसी किसी की यहाँ पर पड़ी नही है और न ही सुन रहा है बस सभी लोग अपने अपने घमंड में चल रहे है. अब मोदी है तो मुमकिन है की जगह पर मोदी है तो मंदी हो गया है. गहलोत ने इस बात को रूस से जोड़ते हुए कहा कि रूस के 17 टुकड़े हो गये लेकिन आज हमारा देश एक सीना तानकर के खड़ा हुआ है.

गहलोत ने खुलकर के इस बिल पर बोला और मोदी सरकार की आलोचना की है लेकिन सवाल ये है कि गहलोत इसके क़ानून को लागू होने से रोकेंगे कैसे क्योंकि नागरिकता केंद्र के अधिकार क्षेत्र में आता है और अब राज्यों को आज नही तो कल कभी न कभी इसे लागू करना ही होगा.