NRC की वजह से नीतीश कुमार को बड़ा झटका लगा है

317

भारतीय जनता पार्टी अभी हाल ही में बहुत ही बड़ा और काफी ज्यादा परिवर्तनकारी क़ानून लाई है जिसकी उम्मीद तो कई लोग पहले से ही कर रहे थे लेकिन अब इसके साइड इफ़ेक्ट कुछ इस तरह से निकलकर के आ रहे है जो लोगो को परेशान होने पर मजबूर कर रहे है. ख़ास तौर पर बीजेपी की बात करे तो सबसे ज्यादा उलटे सीधे इल्जाम तो सीधे सीधे तौर पर भाजपा पर ही लगाये जा रहे है और इस बात में किसी को भी शंका नही है मगर अब इसका प्रभाव एनडीए की दूसरी पार्टी जदयू पर भी पड़ने लगा है.

जेडीयू के दो विधायको ने दी नीतीश को एनआरसी का सपोर्ट करने पर पार्टी छोड़ने की धमकी
जेडीयू इन दिनों में कोई ऐसी बड़ी पार्टी नही है जो बिहार पर एक छत्र राज कर सके और ये बात सच है. पहले से ही बीजेपी के सहारे बिहार की सत्ता में बैठे हुए नीतीश कुमार के पास पूरा बहुमत नही ही है और अब उनके ही पार्टी के दो विधायको नौशाद आलम और मुजाहिद आलम ने नीतीश कुमार को एनआरसी का सपोर्ट करने पर पार्टी छोड़ देने की धमकी दे दी है.

ऐसे में इतना तो जाहिर है कि नीतीश के अपने विधायक ही इसके खिलाफ हो जाए तो इसको बिहार में लागू नही होने देंगे. अब नीतीश के लिए ये बड़ा मुश्किल हो जाएगा कि वो अब अपनी गठबंधन पार्टी बीजेपी को भी ये बात समझाए कि वो ऐसा क्यों नही कर सकते है और अपने विधायको को भी पकडे रखना जरूरी है. इस संकट में नीतीश कुमार फैसला क्या लेते है ये भी देखने वाली बात होगी.

पहले से ही नीतीश कई मुसीबतों से घिरे हुए है. उनके राजनीतिक रणनीतिकार कहे जाने वाले प्रशांत किशोर खुद भी उन्हें छोड़ने के लिए अमादा हो रहे है तो ऐसे में जेडीयू किस तरह से अपना रूतबा बनाये रख पायेगी ये देखने वाली ही बात होगी. हालांकि नीतीश कुमार प्रशांत किशोर को रोकने के लिए मेहनत काफी कर रहे है.