ममता बनर्जी ने किया अमित शाह के ‘नागरिकता संशोधन क़ानून’ के खिलाफ बड़ा ऐलान

206

इन दिनों देश में नागरिकता संशोधन क़ानून को लेकर के बहुत ही ज्यादा बवाल मचा हुआ है और ये बवाल मचा रखा है राजनीतिक दलों ने. कोई इसके समर्थन में खड़ा है तो कोई खुलकर के विरोध कर रहा है. सब लोग अपना अपना राग अलाप रहे है और हर किसी की अपनी तकलीफे है मगर सच तो यही है कि शाह ने इस बिल को पास करवा लिया है और अब इसी पर ही काम भी चल रहा है मगर इसके खिलाफ कई चेहरे मुखर होकर के खड़े हो रहे है और ममता बनर्जी का नाम उनमे सबसे आगे है.

नही करेगी बंगाल में नागरिकता संशोधन क़ानून को लागू, विरोध करने सडको पर भी उतरेगी
ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री पद पर रहते हुए ऐलान किया है कि वो बंगाल में इस नये कानून को लागू ही नही होने देगी. यही नही ममता बनर्जी ने तो भी कहा कि वो इसके विरोध में होने वाली रैली का हिस्सा बनेगी जो अम्बेडकर स्टेचू से शुरू होगी और ठाकुरबाड़ी तक जाकर के खत्म होगी. ममता बनर्जी इसका विरोध करने का कोई भी मौक़ा नही छोड़ रही है.

पहले भी लगते रहे है बांग्लादेशी घुसपैठियो को शरण देने के आरोप ममता बनर्जी की सरकार पर पहले भी इस तरह के आरोप लगते रहे है कि उन्होंने बांग्लादेश से आने वाले मुस्लिम लोगो को शरण दे रखी है ताकि वो अपने वोट बढ़ा सके और कही न कही ये चिंता की बात भी है क्योंकि जिस तरह की हालत बंगाल में हो रखी है बात बात पर तोड़ फोड़ होने लगती है वो हालात बिलकुल भी ठीक तो नजर नही आते है.

ममता बनर्जी ही नही बल्कि अन्य राज्यों के मुख्यमंत्री जिनमे कमलनाथ और नीतीश कुमार का नाम भी शामिल है इन्होने भी कही न कही इस बिल को लागू करने में आना कानी करनी शुरू कर दी है जो शाह और मोदी के लिए थोड़ी सी चिंता का सबब जरुर बन सकता है क्योंकि इससे घाटा तो देश का ही होना है.