नागरिकता क़ानून के विरोध में दिल्ली में लोगो ने बसे जला दी, जगह जगह तोड़ फोड़

40

नागरिकता बिल हाल ही में पास करवा दिया गया जिसके बाद में देश में नागरिकता के नये पैमाने तय किये गये है और इससे देश में रहने वाले कई करोडो लोग खुश भी है क्योंकि जिस तरह से लोगो को उम्मीद थी कि शरण मांगने वालो को मदद मिलेगी और घुसपैठ करने वालो को निकाला जाएगा. वैसा हो भी रहा है लेकिन चिंता की बात फ़िलहाल ये खड़ी हो गयी है कि इसका बिल का विरोध करने वालो ने लोगो की जिन्दगी को नरक करना शुरू कर दिया है.

जामिया के इलाके से लेकर न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी तक तबाही ही तबाही, पुलिस भी रोकने में नाकाम हुई
आज शाम के वक्त जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के आस पास के इलाके से एक भीड़ ने हो हल्ला मचाना शुरू किया जिसमे यही इसी के छात्रो का शामिल होना बताया जा रहा है. इन लोगो ने लाइब्रेरी में तोड़ फोड़ की. तीन बसो को आग लगा दी और तो और पूरे ट्राफिक को जाम कर दिया. मजबूरन दिल्ली के लगभग चार के करीब मेट्रो स्टेशनों को बंद करना पड़ा क्योंकि जैसी स्थिति बन रही थी ऐसे में ये लोग मेट्रो में घुसकर के भी नुकसान पहुंचा सकते थे.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने इन सभी लोगो से शान्ति रखने की अपील की है और कहा है कि ऐसी हरकते बर्दाश्त नही होगी. वही पुलिस जामिया के केम्पस में पहुंची है जहाँ पर यूनिवर्सिटी का कहना है कि उनके छात्र तो सिर्फ केम्पस के अन्दर ही प्रदर्शन कर रहे है. अब देश की राजधानी में जो कुछ भी हरकते हो रही है वो अपने आप में चिंता तो पैदा करती ही है क्योंकि अगर दिल्ली ही सुरक्षित न हो तो फिर बाकी राज्यों की क्या बात करे?

आपको बता दे बंगाल में इस तरह की हरकते ये असामाजिक लोग बांग्लादेशियों के साथ मिलकर के पिछले दो दिन से कर रहे है और अब इस तरह की चीज देश की राजधानी तक आ पहुँची है.