अब अमित शाह पर भड़का बांग्लादेश, लिया ये बड़ा एक्शन

330

भारत ने हाल ही में नागरिकता संशोधन बिल पास किया है और इस बिल में साफ़ तौर पर ये लिखा गया है कि पड़ोस के देश पाक, अफगान और बांग्लादेश में जो भी अल्पसंख्यक लोग तंग हो रहे है वो भारत में आकर के शरण ले सकेंगे और कही न कही इससे उन लोगो को सहूलियत मिलेगी जो वाकई में भारत में शरण लेना चाह रहे है. मगर इसमें जिन देशो के नाम लिए गये है उनका रिएक्शन तो आना लाजमी था आर उनका रिएक्शन आ भी गया है जो थोडा चिंता जनक भी है.

पाक के विदेश मंत्री ने पहले जताया था विरोध, अब भारत का दौरा भी रद्द किया
जब अमित शाह ने ये बिल सदन से पास करवाया तो पाक के विदेश मंत्री मोमिन ने इस पर विरोध जताते हुए कहा कि भारत के गृहमंत्री ने जो कुछ भी कहा है वो बिलकुल ही गैर जरूरी और झूठ है. हमारे यहाँ पर कोई भी अल्पसंख्यक नही है, सभी लोग बराबर है. उम्मीद है भारत ऐसा कुछ नही करेगा जिससे हमारे संबंधो पर कोई असर पड़े. धर्म आधारित नागरिकता से भारत का सेक्युलर स्टैंड कमजोर हो जायेगा.

यही नही इसके बाद में बांग्लादेश के गृहमंत्री और विदेश मंत्री दोनों ने ही भारत का दौरा रद्द कर दिया है. वो दिल्ली आने वाले थे लेकिन कुछ अंदरूनी कारणों का हवाला देकर के दौरा रद्द कर दिया है जो अपने आप में एक बुरा संकेत है क्योंकि बांग्लादेश के बयानों और एक्शन से लगता है भारत को बातचीत करके मामला थोडा ठंडा करने की जरूरत है.

वही अफगानिस्तान ने भी इस पर नाराजगी जताते हुए कहा है कि आखिर उनका नाम पाकिस्तान जैसे देश के साथ में क्यों रखा जा रहा है? हम कोशिश करते है कि हमारे यहाँ पर किसी भी तरह का भेदभाव न हो. अब इस तरह की तमाम बाते हो रही है और इस पर भारत सरकार डेमेज कण्ट्रोल करने में लग गयी है.