अमेरिका में अमित शाह की एंट्री बैन करने की मांग, ये है वजह

366

फ़िलहाल के दिनों में भारतीय राजनीति में सबसे ज्यादा चर्चित कोई नाम है तो वो है भारत के गृह मंत्री अमित शाह. शाह ने एक के बाद एक बड़े ही ख़ास बिल है जो संसद से पास करवाए है जिनमे पहला है अनुच्छेद 370 और दूसरा तीन तलाक और अभी हाल ही में पास हुआ है नागरिकता संसोधन बिल. अब इस पर अमेरिका ने फिर से अपनी टांग अडायी है मगर इस बार सीधे सरकार ने नही बल्कि एक आयोग है उसने इस पर करारी आपत्ति दर्ज करवाते हुए कड़े से कड़े कदम उठाने की मांग की है.

अमेरिकी धार्मिक स्वतंत्रता आयोग ने की शाह की अमेरिका में एंट्री बैन करने की मांग
गत सोमवार की बात है जब इस अमेरिकी आयोग ने भारत में हो रहे घटनाक्रम पर चिंता व्यक्त की और कहा कि ये बेहद ही गंभीर है. अगर नागरिकता संसोधन बिल दोनों सदनों से पास हो जाता है और भारत में लागू हो जाता है तो अमेरिका को अमित शाह की एंट्री अपने देश में बैन कर देनी चाहिये. आपको बता दे ये स्टेटमेंट अमेरिकी सरकार या फिर उनके विदेश मंत्रालय की तरफ से नही आया है इसलिए इसे ख़ास तवज्जो नही दी जा रही है.

शाह का ये बिल आस पास के देशो में रहने वाले परेशान अल्पसंख्यको को भारत की नागरिकता दिलाने में मदद करेगा और कही न कही इससे उनकी जिन्दगी आसान होगी. ऐसे लोगो के शरणार्थी केम्पो में इन दिनों जश्न का माहौल है मगर सबसे खराब बात ये है कि कई देश इसे गलत तरीके से पेश कर रहे है हालांकि वो चाहे अपने अपने धर्म विशेष को प्रमोट कर रहे हो और करते जा रहे हो मगर भारत के कामो में मीनमेख निकालना उन्हें अच्छे से आता है.

आपको बता दे आज से सात दशक पहले जब इजरायल यहूदियों का गढ़ बनाया गया था क्योंकि उनके पास कोई और जगह नही थी तो तब भी ऐसे ही बाकी देशो ने इजरायल की आलोचना की और तमाम बयान दिए मगर इजरायल डटा रहा और आज सुरक्षित और खुशहाल है.