सुब्रमण्यम स्वामी ने निर्मला सीतारमण पर साधा निशाना, कही ये बात

68

भाजपा में आम तौर पर हाई कमान से ज्यादा सवाल करने या फिर उनके खिलाफ जाने की प्रथा नही है लेकिन जब आप बहुत ही खूबी वाले हो और आप परवाह न करते हो तो फिर आपको भला कौन रोक सकता है? अब स्वामी जी भी उनमे से एक ही है. वो अपनी बातो को इतनी निष्ठुरता के साथ में सबके सामने रखते है जिसे कोई शायद विपक्षी भी न रख पाए और कही न कही ये ही उनकी खासियत है जिसका प्रदर्शन उन्होंने इस बार निर्मला जी के सामने किया है.

निर्मला सीतारमण को नही पता इकोनॉमिक्स, सिर्फ डेढ़ प्रतिशत है जीडीपी
स्वामी मोदी सरकार के धार्मिक और सामाजिक एजेंडे से काफी खुश है क्योंकि यहाँ पर वो काफी बेहतर काम कर रही है लेकिन आर्थिक मोर्चे पर स्वामी बिलकुल भी संतुष्ट नजर नही आते है. स्वामी ने बयान देते हुए कहा कि असलियत में देश की जीडीपी ग्रोथ रेट  4.8 प्रतिशत नही बल्कि सिर्फ और सिर्फ डेढ़ प्रतिशत रह गयी है. हकीकत ये है कि निर्मला सीतारमण को इकोनॉमिक्स बिलकुल भी नही आती है. स्वामी मोदी सरकार द्वारा किये जा रहे आर्थिक सुधारों से बिलकुल खुश नही है और उन्हें अच्छे लोगो को चुनने के लिए कह रहे है.

पिछले कुछ समय में तेजी से गिर रही है जीडीपी ग्रोथ
अगर बीते दो से तीन सालो की बात करे तो कई सेक्टर्स में भारी उत्पादन कमी आयी है. ऑटोमोबाइल सेक्टर उनमे सबसे ज्यादा है और एफएमसीजी भी उसी तरफ चल पडा है जिसके चलते जो देश की विकास की रफ़्तार औसतन 6 से 7 प्र्तिशत के बीच बीच में रह रही थी अब वो साढ़े चार प्रतिशत पर आ गयी है. इसका प्रभाव प्राइवेट सेक्टर में काम करने वाले लोगो की नौकरी पर, लोगो के खरीदने की क्षमता पर और उनकी नियमित आय पर सीधा पड़ता है.

स्वामी अलग अलग मंचो से मोदी को चेता चुके है कि उन्हें अपनी आर्थिक नीतियों में बदलाव करने की जरूरत है क्योंकि अभी उन्हें राय देने वाले जो भी लोग है वो ठीक से काम नही कर रहे है और ये चिंता का विषय है.