बेलगाम हुए संजय राउत, अब देवेन्द्र फड़नवीस को ताना मारते हुए कही ये बात

205

महाराष्ट्र में जो भी घटनाक्रम होना था वो तो हो चुका है. बीजेपी धोखा खा चुकी है, उद्धव स्वार्थ पूरा कर चुके है और कांग्रेस ने भाजपा को रोकने में कामयाबी एक हद तक हासिल भी कर ली है जो उनके लिए बड़ी बात भी है. अब सब कुछ हो ही गया है तो फिर बयान बाजी करने का क्या अर्थ है? मगर फिर भी नेता होने का मतलब ही यही है कि जिसका अर्थ न निकले वो सब भी करो और संजय राउत ने एक बार फिर से यही किया है और इसी वजह से वो चर्चा में भी तो रहते है.

फडनवीस को दी विरोधी दल का नेता चुने जाने पर दी बधाई, याद दिलाया पुराना बयान
अपने विवादित बयानों के लिए हमेशा से ही जाने जाने वाले नेता संजय राउत ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा कि जो फडनवीस ये कहते थे कि महाराष्ट्र में विरोधी पक्ष ही नही रहेगा, उन्हें महाराष्ट्र में विरोधी पक्ष का नेता चुने जाने पर बधाई. कुल मिलाकर के वो फडनवीस के पहले के बयानों को याद दिला रहे है जिनमे वो विरोधियो की कमजोरी पर बयान देते थे.

सामना में भी पहले कई दफा कर चुके है भाजपा और फडनवीस पर कटाक्ष
जब से बीजेपी और शिवसेना के बीच में दूरियां बढ़ी है तब से संजय राउत लगातार बीजेपी और फडनवीस पर कटाक्ष कर रहे है और इसके लिए वो फडनवीस के बारे में सामना के मुखपत्र में लगातार उल जलूल बाते भी लिखते रहे है. हालाँकि भाजपा ने जहां तक हो सके इन पर जवाब देने से बचने का ही प्रयास किया है ताकि किसी तरह का बखेड़ा खड़ा हो न हो.

फडनवीस तो ये तक कह चुके है कि वो संजय राउत की बातो को सीरियसली ही नही लेते है. खैर आने वाले समय में महाराष्ट्र की राजनीति किस करवट बैठती है ये तो देखने वाली ही बात होगी क्योंकि अभी तो ये महज एक नये दौर की शुरुआत भर है.