अब उद्धव ठाकरे को सोनिया गांधी ने लिखी चिट्ठी, लिखी ऐसी बातें

868

उद्धव ठाकरे ने आखिरकार किसी न किसी तरह से हर हथकंडा अपनाकर के महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री का पद हासिल कर ही लिया. अब इसके लिए उन्हें चाहे जो कुछ भी करना पडा हो, उन्होंने कर दिया. बीजेपी को खोना, अपनी विचारधारा को तोडना, नए दोस्त बनाया या फिर अपने ही पिता जी के बताये सिद्धांतो को गाढ़ देना हो. ठाकरे ने वो सब कुछ किया और इसकी बदौलत आज वो शरद पंवार और सोनिया गांधी के ख़ास दोस्त बन गये है. राजनीतिक दोस्त ही सही लेकिन दोस्त बने है और अब सोनिया गांधी ने उद्धव को चिट्ठी भी लिखी है.

चिट्ठी में दी सोनिया गांधी ने उद्धव ठाकरे को बधाई, भाजपा को जमकर कोसा
सोनिया गांधी ने उद्धव ठाकरे को मुख्यमंत्री बनने से पहले अपनी तरफ से एक चिट्ठी लिखी है क्योंकि वो शपथ ग्रहण समारोह में नही आ पायी. चिट्ठी में सोनिया गांधी ने लिखा ‘कल आदित्य मुझसे मिलने आये और मुझे आपके शपथ ग्रहण में आने के लिए न्योता दिया मगर मैं नही आ पायी इसका मुझे खेद है. शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस जिन हालातो में एक साथ आये है वो बिलकुल ही असामान्य से है. वो भी ऐसे समय में जब इस देश को बीजेपी से खतरा है.’

सोनिया गांधी ने लिखा कि बीजेपी ने देश की राजनीति को बेहद ही जहरीला बना दिया है. हम लोग मिलकर के लोगो की मदद करेंगे और तमाम बाते कही. इसी के साथ सोनिया गांधी ने उद्धव ठाकरे को मुख्यमंत्री बनने और उनके कार्यकाल के लिये शुभकामनाये दी है. कुल मिलाकर के सोनिया गांधी का उद्धव ठाकरे को ये पत्र लिखने के पीछे मकसद सिर्फ और सिर्फ भाजपा को कोसना ही नजर आता है जो उन्होंने अच्छी तरह से कर दिया.

उद्धव ठाकरे का साढ़े पांच बजे शिवाजी पार्क में शपथ लेना तय हुआ जिसमे आम जनता और मीडिया को भी न्योता दिया गया. अब शंका इस बात की है कि तीन अलग अलग विचारधाराओं की ये सरकार आखिर कब तक आपसी लाभ के लिए एक साथ चल पाती है?