उद्धव ठाकरे ने दिया सोनिया गांधी और शरद पवार को धन्यवाद, बीजेपी के बारे में कही ऐसी बाते

235

उद्धव ठाकरे ने पिछले दिनों में बहुत ही ज्यादा बदलाव से गुजरे है और इस बदलाव को तो हम सभी लोगो ने देखा है किस तरह से वो बीजेपी से जुदा हो गये और  इसके बाद से ही हमने शिवसेना में भी काफी ज्यादा बदलाव होते हुए देखे है जो कही से भी सहज तो नजर नही आते है. मगर शिवसेना में बदलाव तो हुए है और इस बात को मानना होगा क्योंकि वो दशको पुरानी दोस्त यानी भाजपा के बारे में गलत शब्द इस्तेमाल कर रहे है वही सालो से शत्रु रही एनसीपी और कांग्रेस के बखान किये जा रहे है.

उद्धव ने किया सोनिया और पवार का धन्यवाद, भाजपा ने नही रखा हम पर विश्वास
उद्धव ठाकरे विधायको की बैठक को संबोधित किया तब उन्होंने कुछ ऐसी बाते कही जो पूरी तरह से अप्रत्याशित ही थी. ठाकरे ने कहा ‘हमने कभी सपने में भी नही सोचा था की हम तीनो दल एक साथ आयेंगे. सोनिया गांधी का धन्यवाद. हम एक दूसरे पर विश्वास करके एक दूसरे के साथ में आये है.तीस साल तक जिससे हमने दोस्ती निभायी थी उसने तो विश्वास ही नही रखा. मैंने कभी सपने में भी नही सोचा था की मैं मुख्यमंत्री बनूंगा.’

ठाकरे परिवार की छवि को पलटने में लगे है उद्धव
उद्धव ठाकरे के हाथ में जब से सत्ता आयी है तब से उन्होंने हार्ड शिवसेना को बिलकुल ही नरम दल बनाकर के रख दिया है. कभी मातोश्री में लोग मिलने के लिए आते थे जबकि अब उद्धव ठाकरे को दर दर पर घूमना पड़ रहा है जिससे मालूम चलता है कि चाहे शिवसेना ने सत्ता हासिल कर ली हो लेकिन वो अब पहले की तरह रूतबे वाली पार्टी नही रही है.

खैर जो भी है आपकी जानकारी के लिये बता दे कांग्रेस और एनसीपी के समर्थन से शिवसेना के नेता उद्धव ठाकरे 28 नवम्बर को मुख्यमंत्री पड़ की शपथ लेंगे और इसके बाद में आगे एक तारीख को वो सदन में अपना बहुमत साबित करके फिर कार्यभार संभाल लेंगे.