अमित शाह ने खोली शिवसेना की पोल, इस तरह से हासिल की उद्धव ने सत्ता

440

शिवसेना ने पिछले दिनों में जो कुछ भी किया है उससे कोई भी अछूता नही है पूरे महाराष्ट्र की राजनीति में एक तरह से तूफ़ान सा ही आ गया था जिसने सब कुछ हिलाकर के रख दिया और लोग भी इससे काफी ज्यादा हैरान और परेशान हुए क्योंकि कभी शिवसेना एक बेहद ही भरोसेमंद पार्टी हुआ करती थी मगर अब बीजेपी के साथ में जो सेना ने किया है उसके बाद में जाहिर तौर पर भाजपा चुप तो रहेगी नही और उन्होंने बोलना शुरू कर भी दिया है. शाह ने मीडिया समूह रिपब्लिक के समिट में ठाकरे पर जमकर के हमला बोला.

शिवसेना ने की खरीद फरोख्त, हमने शिवसेना से सीएम पद पर कोई वादा नही किया था
अमित शाह इतने समय तक इस पूरे मामले पर चुप थे लेकिन आखिरकार कभी न कभी तो बोलना ही था सो अब वो बोल ही पड़े. अमित शाह ने साफ़ शब्दों में कहा की हमने शिवसेना से सीएम पद को लेकर के कोई भी वादा नही किया था. फडनवीस को जनादेश मिला था, शिवसेना के लोग भी बीजेपी और शिवसेना का चेहरा लेकर के वोट मांगने गये थे. मोदी के चेहरे का उपयोग हुआ था.

बीजेपी और शिवसेना के गठबंधन को बहुमत मिला था और क्योंकि बड़ी पार्टी हमारी थी तो सीएम भी हमारा होना था मगर अब शिवसेना दूसरी तरफ चली गयी. दूसरी तरफ अमित शाह ने शरद पंवार को लेकर के भी बयान दिया और कहा कि कोई न कोई तो होगा ही जो एंटी बीजेपी फोर्सेज का केंद्र बनेगा और कही न कही अब बीजेपी को समझ आ रहा है कि शरद पवार से थोडा संभालकर के रहने की जरूरत है.

शाह ने ये खुले तौर पर कहा कि शिवसेना ने बीजेपी और मोदी का उपयोग करके सत्ता हासिल कर ली और तीन उन पार्टियों ने मिलकर के सत्ता हासिल कर ली जिन्हें बहुमत मिला ही नही ये जानादेश का अपमान ही है. खैर जो भी है अब तो जो होना था सो हो गया.