उद्धव ठाकरे में आया घमंड, भाजपा को धमकी देते हुए कही अब ये बात

2172

महाराष्ट्र की पार्टी पॉलिटिक्स में कही न कही शिवसेना ने बाजी मार ली है और अब बीजेपी की बनायी हुई सरकार गिर चुकी है जो सभी लोग देख रही रहे है. ये अपने आप में हर किसी को हैरान भी कर रहा है क्योंकि ऐसा कुछ हो जाएगा ये किसी ने भी न सोचा था मगर हुआ है. अजित पवार ने पहले अपना इस्तीफा दिया और फिर फडनवीस भी इस्तीफा देकर के किनारे हो गये मगर अब इतना कुछ हो जाने के बाद जब गेंद शिवसेना के पाले में है तो ठाकरे का गुरुर सर पर चढ़कर के बोल रहा है और वो बीजेपी को चेताने लगे है.

25 साल हमारी दोस्ती देखी है, अब दुश्मनी भी देखो
शिवसेना के मुखपत्र में अब आपको देशप्रेम या फिर राष्ट्रप्रेम जैसी बाते कम और बीजेपी की बुराई ज्यादा देखने को मिलेगी और ऐसा ही सिलिसला आज भी देखने को मिला. शिवसेना के मुखपत्र सामना में लिखा गया अजित पवार का सारा खेल खत्म हो चुका है. उन्होंने राज्यपाल को झूठा समर्थन पत्र दिया है और बीजेपी तुमने हमारी 25 साल तक दोस्ती देखी है, अब दुश्मनी भी देखो.

सामना में उन्होंने ये भी पूछा की बहुमत होने के बावजूद उन्हें ऑपरेशन लोटस चलाने की जरूरत क्या थी? मुझे तो समझ नही आता है कि विधायको का अपहरण करना कौनसी चाणक्य नीति है? ये सब कुछ मेरी समझ से बाहर है. यही नही सामना के मुखपत्र में एनसीपी के प्रमुख शरद पवार की जमकर के तारीफ़ की गयी है. अब उनकी तारीफ़ तो करनी ही पड़ेगी क्योंकि उनकी मदद से सरकार भी तो चलानी है सो इतना तो करना ही पड़ेगा चाहे उसके लिये अपने पुराने बयानों पर खुद ही मट्टी क्यों न डालनी पड़े?

खैर अब जब शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस मिलकर सरकार बना ही रहे है तो सब कुछ तय हो चुका है. रिपोर्ट्स की माने तो उद्धव ठाकरे ही महाराष्ट्र के अगले मुख्यमंत्री होंगे और वो एक दिसम्बर को शपथ लेने जा रहे है.